सुशांत की पर्सनल डायरी से खुलेगा उसकी मौत का बड़ा राज

0
138

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत की डायरी से छेड़छाड़ के मामले में काफी चौंकाने वाली बातें सामने आ रही हैं। मीडिया को मिली उनकी पर्सनल डायरी के कुछ पेज गायब हैं। सुशांत के चचेरे भाई का भी कहना है कि उनके सामने पुलिस ने डायरी ली थीं पर नहीं पता था छेड़छाड़ करेंगे। वही सुशांत के फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिठानी के 2 तरह के बयान भी इस मामले में शक बढ़ा रहे हैं। बता दें कि डायरी से 6 पेज गायब हैं।

सुशांत सिंह राजपूत डेथ केस मिस्ट्री बनता जा रहा है। इस केस की जांच बिहार पुलिस ने नए सिरे से शुरू की थी। अब यह जांच सीबीआई के हाथ पहुंच चुकी है। अब सुशांत की पर्सनल डायरी हाथ लगी है। दावा किया जा रहा है कि इस डायरी के कुछ पेज फाड़े गए हैं। इस मामले में सुशांत के चचेरे भाई नीरज कुमार बब्लू का कहना है, वो डायरी लिखता था। मेरे सामने पुलिसवाले 4-5 डायरी ले गए थे। मुझे लगा था अच्छी बात है जांच के लिए ले जा रहे हैं। मुझे नहीं पता था कि सुबूतों से छेड़छाड़ हुई है। मुंबई पुलिस का चेहरा पूरे देश के सामने आ गया है। सुशांत की डायरी के पेज फटे होने को लेकर उनके फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिठानी ने 2 तरह के बयान दिए हैं, जिससे यह मामला और संदिग्ध होता जा रहा है। सिद्धार्थ ने पहले तो कहा कि उन्होंने डायरी के पेज फटे नहीं देखे।

सुशांत के फैमिली फ्रेंड ने भी जताया शक
सुशांत के फैमिली फ्रेंड नीलोत्पल मृणाल का भी कहना है कि फटे हुए पेजों की जांच होनी चाहिए। रिया जरूर कुछ छिपा रही हैं। उन्होंने कहा कि कोई कुछ भी लिख सकता है। या कुछ भी छिपाया जा सकता है। मृणाल ने कहा कि फिंगर प्रिंट्स भी चेक होने चाहिए। क्योंकि डायरी से फिंगर प्रिंट्स नहीं मिटाए जा सकते।

पिठानी ने पुलिस को दिए मेसेज
सिद्धार्थ ने उन सुबूतों के बारे में भी बात की जो मुंबई पुलिस उनसे सब्मिट करने को कह रही है। उन्होंने बताया कि उन्होंने चाबी बनाने वाले को जो मेसेज किए थे वो दे दिए हैं। वहीं मुंबई से लौटी बिहार पुलिस ने भी मुंबई पुलिस पर साथ न देने सहित काम में बाधा पहुंचाने तक कई आरोप लगाए हैं।