राजस्थान समेत कई राज्यों में यलो अलर्ट जारी, अगले 48 घंटे में और बढ़ेगी गर्मी

0
772

नई दिल्ली।आधा भारत इस वक्त गर्म हवाओं की चपेट में है और फिलहाल भीषण गर्मी का प्रकोप अभी एक-दो दिन और जारी रहेगा। इसे देखते हुए मौसम विभाग ने अगले दो दिन के लिए हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पंजाब, पूर्वी यूपी और राजस्थान में यलो अलर्ट जारी कर दिया है। दक्षिण और पश्चिम राज्यों तेलंगाना, महाराष्ट्र और कर्नाटक में भी गर्मी की वजह से लोगों का हाल-बेहाल है।

भीषण गर्मी के चलते तेलंगाना में पिछले 22 दिनों में 17 मौतें हो चुकी हैं। गुरुवार का दिन देश की राजधानी दिल्ली में पिछले 8 साल में सबसे गर्म बताया गया। पालम वेधशाला ने 46.8 डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान दर्ज किया। पालम वेधशाला ने मई 2013 में दिल्ली का तापमान 47.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया था।

मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट वेदर के महेश पालवत ने ट्वीट करके बताया कि दिल्ली के पालम में 46.8 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। मई महीने में 2013 के बाद दर्ज किया गया यह अधिकतम तापमान है। अभी तक मई महीने में 26 मई 1998 को सबसे ज्यादा अधिकतम तापमान 48.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।’ सफदरजंग वेधशाला ने अधिकतम तापमान 44.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

अगले 48 घंटे बेहद गर्म
मौसम विभाग के अनुसार, अगले दो दिन तापमान 45 से 46 डिग्री तक पहुंचने की संभावना है। अगले 48 घंटे में लू का प्रकोप और अधिक बढ़ जाएगा। इसकी वजह से दोपहर के समय लोगों को बाहर न निकलने का सुझाव भी दिया जा रहा है। मौसम विभाग के अनुसार, जब मैदानी इलाकों में पारा 40 पार और पहाड़ी इलाकों में 30 डिग्री पार पहुंच जाता है तो लू और गर्मी को लेकर चेतावनी जारी की जाती है।

मौसम विभाग के मुताबिक अपने पूर्वानुमान में कहा है कि अगले एक-दो दिनों तक राज्य के कई क्षेत्रों में आंशिक बादल छाए रहेंगे तथा सीमांचल क्षेत्रों में तेज हवा के साथ बारिश होने के आसार हैं।

राजस्थान और यूपी में गर्मी का प्रकोप
राजस्थान में भी भीषण गर्मी और लू के प्रकोप के कारण जनजीवन बेहाल है। चूरू में अधिकतम तापमान 47.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। उत्तर प्रदेश में भी आसमान से आग बरस रही है। गुरुवार को हमीरपुर जिले में 48 डिग्री तापमान रहा। वहीं मथुरा में 49 डिग्री और प्रयागराज में 25 साल का रेकॉर्ड तोड़ते हुए पारा 48.6 डिग्री पहुंच गया। लखनऊ में गुरुवार को पारा 44 डिग्री सेल्सियस रहा।

उत्तर भारत में राजस्थान और सिंध (पाकिस्तान) के रेगिस्तानों से उठने वाली गर्म हवाओं के चलते तापमान लगातार बढ़ता जा रहा है। साथ ही, पूरे साल में इस समय इस क्षेत्र में वैसे भी सबसे अधिक गर्मी पड़ती है। बिल्कुल साफ आसमान के चलते धरती पर सोलर रेडिएशन हो रहा है जो प्रत्यक्ष रूप से तापमान बढ़ाने का काम कर रहा है।