जीएसटी संग्रह मई में 12 प्रतिशत बढ़कर 1.57 लाख करोड़ के पार रुपये

56

नई दिल्ली। GST Collection: देश के जीएसटी कलेक्शन में एक बार फिर उछाल दर्ज किया गया है। वित्त मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि मई में जीएसटी संग्रह 12 प्रतिशत बढ़कर 1.57 लाख करोड़ रुपये के पार हो गया।

मई, 2023 में सकल वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) का राजस्व 1,57,090 करोड़ रुपये रहा, जिसमें केंद्रीय जीएसटी 28411 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी 35,828 करोड़ रुपये और एकीकृत जीएसटी 81,363 करोड़ रुपये ( 41,772 रुपये आयात सहित) है।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि मई 2023 के महीने का राजस्व पिछले साल इसी महीने में जीएसटी राजस्व की तुलना में 12 प्रतिशत अधिक है। माल के आयात से मिला राजस्व 12 प्रतिशत अधिक था। घरेलू लेनदेन (सेवाओं के आयात सहित) से राजस्व पिछले साल इसी महीने के दौरान इन स्रोतों से राजस्व की तुलना में 11 प्रतिशत अधिक है। पिछले साल मई में माल एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह करीब 1.41 लाख करोड़ रुपये था। पिछले महीने जीएसटी संग्रह 1.87 लाख करोड़ रुपये के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर था।

जीएसटी संग्रह लगातार तीसरे महीने 1.50 लाख करोड़ रुपये को पार कर गया। मई में ये 12 प्रतिशत बढ़कर 1.57 लाख करोड़ रुपये से अधिक हो गया। गुरुवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। कर विशेषज्ञों ने कहा कि संग्रह, पिछले साल से जारी राज्यों में अच्छे आर्थिक प्रदर्शन के चलते मुमकिन हुआ है।

मंत्रालय ने कहा कि मई 2023 के महीने का राजस्व पिछले साल इसी महीने में जीएसटी राजस्व की तुलना में 12 प्रतिशत अधिक है। महीने के दौरान, माल के आयात से राजस्व 12 प्रतिशत अधिक था और घरेलू लेनदेन (सेवाओं के आयात सहित) से राजस्व पिछले साल इसी महीने के दौरान इन स्रोतों से राजस्व की तुलना में 11 प्रतिशत अधिक है।

लगातार बढ़ रहा जीएसटी का संग्रह
मई लगातार तीसरा महीना है, जब बेची गई वस्तुओं और प्रदान की गई सेवाओं से कर संग्रह 1.50 लाख करोड़ रुपये को पार कर गया है। अप्रैल में जीएसटी राजस्व 1.87 लाख करोड़ रुपये के रिकॉर्ड उच्च स्तर को छू गया था, जबकि मार्च में यह 1.60 लाख करोड़ रुपये था।

मई लगातार 14वां महीना है, जब मासिक जीएसटी राजस्व 1.4 लाख करोड़ रुपये से अधिक आया है। 1 जुलाई, 2017 को GST के लागू होने के बाद से संग्रह ने 5वीं बार 1.5 लाख करोड़ रुपये के आंकड़े को पार कर लिया है।