भारत की आर्थिक तरक्की की रफ्तार हुई तेज, दूसरी तिमाही में 8.4 फीसदी GDP ग्रोथ

193

नई दिल्ली। India GDP Growth Rate: दूसरी तिमाही में भारत की जीडीपी ग्रोथ 8.4 फीसदी रही है। पिछले साल इसी अवधि में भारत की अर्थव्यवस्था 7.4 फीसदी निगेटिव में चली गई थी। कई एजेंसियों की तरफ से अनुमान भी ऐसे ही लगाए जा रहे थे। इस साल की पहली तिमाही यानी अप्रैल 2021 से जून 2021 में भारत की जीडीपी की ग्रोथ में 20.1 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई थी।

जुलाई-सितंबर तिमाही में प्राइवेट फाइनल कंज्म्प्शन एक्सपेंडिचर 19.48 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया है, जो पिछले क्वार्टर में 17.83 लाख करोड़ रुपये था। अगर ग्रोथ को सेक्टर के हिसाब से देखा जाए तो मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में 5.5 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई। वहीं निर्माण गतिविधियों में 7.5 फीसदी की तेजी आई। एग्रिकल्चर सेक्टर में ग्रोथ 4.5 फीसदी रही। माइनिंग में सबसे अधिक 15.4 फीसदी की ग्रोथ देखी गई।

इंडिया रेटिंग्स को था 8.3 फीसदी का अनुमान
इंडिया रेटिंग्स ने अनुमान लगाया था कि देश की अर्थव्यवस्था चालू वित्त वर्ष की दूसरी जुलाई-सितंबर तिमाही में 8.3 प्रतिशत की दर से बढ़ेगी, जबकि पूरे वित्त वर्ष 2021-22 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 9.4 प्रतिशत रहेगी। इंडिया रेटिंग्स ने कहा कि कृषि क्षेत्र की ऊंची वृद्धि की वजह से उपभोक्ता खर्च बढ़ा है जिससे निजी अंतिम उपभोग खर्च में तेजी आई है। एजेंसी ने कहा कि इसका एक अन्य प्रमुख कारण टीकाकरण में लगभग तीन गुना उछाल है, जो अक्टूबर के अंत तक बढ़कर 89.02 करोड़ पर पहुंच गया। जून के अंत तक यह आंकड़ा 33.57 करोड़ था।

रेटिंग एजेंसी ने कहा था, ‘‘दूसरी तिमाही में सरकार का निवेश 51.9 प्रतिशत बढ़ा है जो चालू वित्त वर्ष की पिछली तिमाही में 26.3 प्रतिशत बढ़ा था। इसी तरह 24 राज्यों का निवेश दूसरी तिमाही में 62.2 प्रतिशत बढ़ा है, जो पहली तिमाही में 98.4 प्रतिशत बढ़ा था। इसके बावजूद निजी निवेश या खर्च में पुनरुद्धार धीमा और कुछ क्षेत्रों तक सीमित है।’’