470 मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए नीट की मेन काउंसलिंग आज से

0
84

एडमिशन : इस वर्ष क्वालिफाई 6.11 लाख विद्यार्थियों के लिए 2 राउंड में होगी सेंट्रलाइज ऑनलाइन काउंसलिंग

अरविंद, कोटा। देश के 470 गवर्नमेंट एवं प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस व बीडीसी की 15 प्रतिशत सीटों के लिए सेंट्रलाइज काउंसलिंग प्रक्रिया आज से प्रारंभ होगी। जिसमें नीट-2017 में क्वालिफाई 6 लाख 11 हजार 739 विद्यार्थी 11 जुलाई तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

मेडिकल काउंसलिंग कमेटी (एमसीसी) द्वारा संचालित 2 राउंड की ऑनलाइन काउंसलिंग में विद्यार्थियों को ऑल इंडिया रैंक के अनुसार विभिन्न मेडिकल कॉलेजों में वरीयता क्रम से प्रवेश दिए जाएंगे। 16 अगस्त को ऑल इंडिया कोटा की 15 प्रतिशत में रिक्त सीटें स्टेट कोटा में ट्रांसफर कर दी जाएगी।   

क्वालिफाई विद्यार्थी मेडिकल कॉलेजों के लिए अपनी रैंक के अनुसार अधिकतम च्वाइस प्राथमिकता से भर सकते हैं। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व च्वाइस भरने तथा लॉक करने में पूरी सावधानी बरतें। ऑनलाइन च्वाइस लॉक करके सबमिट करें व प्रिंट आउट लें लें।

कोटा में प्रमुख कोचिंग संस्थान एलन इंस्टीट्यूट, आकाश इंस्टीट्यूट, कॅरिअर पॉइंट, रेजोनेंस व सर्वोत्तम इंस्टीट्यूट में इसके लिए हेल्प डेस्क काउंटर बनाए गए, जहां काउंसलर्स विद्यार्थियों को रैंक के अनुसार कॉलेज व कोर्स च्वाइस भरने की गाइडेंस देंगे। 

गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज में कटऑफ 500 अंक संभव

कॅरिअर पॉइंट के अकादमिक निदेशक शैलेंद्र माहेश्वरी ने बताया कि इस वर्ष नीट में एआईआर-8000 तक सामान्य वर्ग के विद्यार्थियों को गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस में दाखिला मिलने की संभावना रहेगी। नीट में 500 अंक प्राप्त करने वाले सामान्य वर्ग के विद्यार्थियों को किसी गवर्नमेंट कॉलेज में सीट मिल सकती है।

ओबीसी में रैंक-9500 से 10000 तक सीट मिलने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि सभी क्वालिफाई विद्यार्थी प्राथमिकता से अधिकतम च्वाइस भरें। जल्द ही राज्यों में स्टेट काउंसलिंग भी प्रारंभ होगी। राजस्थान सहित कुछ राज्यों में एसबीसी जैसे विशेष आरक्षित कोटे में भी रिजर्वेशन मिलेगा। 

दो राउंड में केंद्रीय काउंसलिंग प्रकिया राउंड-1

  • 3 से 11 जुलाई – मेन काउंसलिंग रजिस्ट्रेशन 
  • 5 जुलाई – संभावित सीटों पर च्वाइस फिलिंग
  • 12 जुलाई – च्वाइस देखना व लॉक करना
  • 13 से 14 जुलाई- राउंड-1 सीट आवंटन की प्रक्रिया
  • 15 जुलाई – सीट आवंटन (राउंड-1)
  • 16 से 22 जुलाई- आवंटित कॉलेज में रिपोर्टिंग करना

राउंड-2

  • 1 से 4 अगस्त – च्वाइस देखना व लॉक करना
  • 5 से 7 अगस्त – राउंड-2 सीट आवंटन की प्रक्रिया
  • 8 अगस्त – सीट आवंटन (राउंड-2)
  • 9 से 16 अगस्त – आवंटित कॉलेज में रिपोर्टिंग करना
  • 16 अगस्त- रिक्त सीटें राज्यों को ट्रांसफर 

प्रवेश के लिए ये डॉक्यूमेंट अनिवार्य

  • 12वीं बोर्ड या इंटरमीडिएट की मार्कशीट
  • 12वीं बोर्ड या इंटरमिडिएठ का सर्टिफिकेट
  • नीट,2017 का प्रवेश पत्र
  • नीट,2017 का रैंक कार्ड या लेटर
  • केटेगरी सर्टिफिकेट (आरक्षित वर्ग के लिए)
  • जन्म प्रमाणपत्र
  • 6 पासपोर्ट साइज फोटो
  • प्रोविजनल आवंटन पत्र
  • पहचान पत्र (आईडी) आधार कार्ड, वोटर आईडी आदि। 

नीट-यूजी, 2017

  •  6,11,539 विद्यार्थी हुए क्वालिफाई
  • 3,45,313 गर्ल्स 
  • 2,66,226 ब्वायज 

मेडिकल कॉलेज व सीटें कितनी

  • 470 गवर्नमेंट व प्राइवेट मेडिकल कॉलेज
  • 90,900 कुल सीटें 
  • 65,170 एमबीबीएस सीटें
  • 25,730 बीडीएस सीटें
  • 308 डेंटल कॉलेजों में

सावधानी से भरें ऑनलाइन च्वाइस :

  • क्या मैं च्वाइस फिलिंग के समय मैं च्वाइस बदल सकता/सकती हूं ?
  • बिल्कुल, ऑनलाइन च्वाइस फिलिंग प्रक्रिया के दौरान आप च्वाइस को लॉक करने से पहले एडिट या डिलिट कर सकते हैं। प्राथमिकता के अनुसार, अधिकतम च्वाइस भरें। 
  • राउंड-1 में फ्रेश च्वाइस सबमिट नहीं करने पर क्या राउंड-2 के लिए पात्र हूं ?
  • नहीं, राउंड-2 में सीट आवंटन के लिए फ्रेश च्वाइस सबमिट करना आवश्यक है। यदि विद्यार्थी ने च्वाइस फिलिंग अवधि के दौरान फ्रेश च्वाइस को सबमिट नहीं किया तो राउंड-2 में सीट नहीं मिलेगी। 
  • दूसरे राउंड में कौन भाग ले सकते हैं ?
  •  पंजीकृत विद्यार्थी जिन्हें पहले राउंड में सीट नहीं मिल सकी।
  •  प्रवेश के लिए रिपोर्टिंग करते समय डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के दौरान आरक्षित या दिव्यांग वर्ग के पंजीकृत विद्यार्थियों को यदि केटेगरी बदल जाने से सीट रद्द हो गई तो उन्हें दूसरे राउंड में मौका मिलेगा।
  • ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने राउंड-1 में सीट मिलने पर कॉलेज में रिपोर्टिंग कर दी तथा दूसरे राउंड में अपग्रेड लेने की इच्छा जताई, वे राउंड-2 के लिए पात्र होंगे ।
  • यदि मैने राउंड-2 में च्वाइस अपग्रेड ऑप्शन लिया और सीट मिल गई तो क्या उसी कॉलेज में जाना होगा ?
  • राउंड-1 की च्वाइस का क्या होगा ?निर्धारित शेड्यल के अनुसार, राउंड-2 में सीट आवंटित होने पर राउंड-1 की सीट स्वतः रद्द हो जाती है। क्यांकि राउंड-1 में वह सीट किसी अन्य विद्यार्थी को आवंटित कर दी जाती है। ऐसे विद्यार्थी को राउंड-1 के आवंटित कॉलेज से ऑनलाइन रिलिविंग लेटर लेकर राउंड-2 में आवंटित कॉलेज में प्रवेश लेना होगा।