57 वर्ष की उम्र में तीसरी बार प्लाज्मा डोनेशन कर 6 जिंदगी बचाने का प्रयास

0
50

कोटा। प्लाज्मा डोनेशन के क्षेत्र में कोटा शहर गौरवमयी इतिहास बनाता जा रहा है। जहां एक बार प्लाज्मा डोनेशन करने वाले सैकडों लोग आगे आ चुके हैं वहीं अब दो, तीन और उससे भी अधिक बार प्लाज्मा डोनेशन कोटा में देखने को मिल रहा है। टीम जीवनदाता की प्रेरणा से ये लोग निरंतर आगे आ रहे हैं।

टीम जीवनदाता के संयोजक व लायंस क्लब के जोन चेयरमैन भुवनेश गुप्ता ने बताया कि कृष्णा नगर रंगबाड़ी निवासी मनोज न्याती (57) ने तीसरी बार प्लाज्मा डोनेशन किया। इससे पूर्व वह उनकी बेटी व पुत्र के साथ प्लाज्मा डोनेशन कर चुके हैं। न्याती ने बताया कि जब मैं 57 वर्ष की उम्र में तीन बार प्लाज्मा डोनेशन कर सकता हूं तो युवाओं को इससे अधिक बार कर लोगों के जीवन को बचाना चाहिए।

तीन बार प्लाज्मा डोनेशन से अब तक उन्होंने 6 जिंदगी बचाने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि वह आगे भी प्लाज्मा डोनेशन के लिए आगे आएंगे। किसी के काम आ सके तो वह इसे अपना सौभाग्य समझते हैं। इस दौरान इंजिनियर पुनीत अग्रवाल, एडवोकेट महेन्द्रा वर्मा, नितिन मेहता, मनीष माहेश्वरी व रामप्रसाद मीणा का विशेष सहयोग रहा।

दवा व्यवसायी भी प्लाज्मा डोनेशन के लिए आएंगे आगे
भुवनेश गुप्ता ने बताया कि दवा व्यवसायी पवन काबरा (45) ए पॉजिटिव ने भी एमबीएस ब्लड बैंक में प्लाज्मा डोनेशन किया। काबरा ने कहा कि उन्हें उनके हृदय रोग विशेषज्ञ भाई की अपील पर जयपुर जाकर प्लाज्मा डोनेशन करना था लेकिन वहां व्यवस्था होने के बाद उन्होंने कोटा में प्लाज्मा डोनेशन करने का निर्णय लिया। गुरुवार को मित्र भुवनेश गुप्ता के अनुरोध पर किसी रोगी की आवश्यकता होने पर काबरा ने तुरंत एम बी एस पहुँचकर प्लाज़्मा डोनेट किया। काबरा ने कहा कि आने वाले समय में कोविड की जंग जीतकर आने वाले मेडिकल से जुडे सभी लोगों को मोटिवेट कर प्लाज्मा डोनेशन के लिए तैयार किया जाएगा।