ड्रग मामले में ‘भीष्‍म पितामह’ मुकेश खन्‍ना ने जया बच्‍चन को आड़े हाथों लिया

0
334

मुंबई। बॉलिवुड ऐक्‍ट्रेस और राज्‍यसभा सांसद जया बच्‍चन ने सदन में बॉलिवुड ड्रग रैकेट को लेकर बयान दिया। उन्‍होंने रवि किशन का नाम लिए बिना उनके बयान की आलोचना की और कहा कि कुछ लोग जिस थाली में खाते हैं, उसी में छेद करते हैं। जया के इस बयान के बाद इंडस्‍ट्री दो हिस्‍सों में बंट गई है। कुछ लोग जया का समर्थन कर रहे हैं, वहीं अब टीवी के ‘भीष्‍म पितामह’ मुकेश खन्‍ना ने भी जया बच्‍चन की आलोचना की है और उनसे शांत बैठने की अपील की है।

‘महाभारत’ और ‘शक्‍त‍िमान’ फेम मुकेश खन्ना का कहना है कि नियम तोड़ने वालों पर जनता की नजर है। कोई इंडस्‍ट्री को ‘गटर’ नहीं बता रहा, सिर्फ जांच की मांग हो रही है। इसलिए जया बच्‍चन को शोर मचाने की बजाय शांत बैठना चाहिए और जांच के निर्देश का इंतजार करना चाहिए।

एक टीवी इंटरव्यू में मुकेश खन्‍ना ने कहा, ‘किसी ने बहुत ही सही कहा है कि बॉलीवुड गटर नहीं है। लेकिन बॉलीवुड में जो गटर है, इससे फर्क पड़ता है। पूरी इंडस्ट्री की निंदा कोई नहीं कर रहा, लेकिन एक बुरी मछली पूरी झील को खराब कर देगी। ऐसे में यदि आप इसे ढूंढना चाहते हैं तो आपको पूरी झील को खोजना होगा। तभी आप इसे पकड़ सकते हैं।’

यह थाली नहीं, छलनी हो गई है’
मुकेश खन्‍ना ने आगे कहा, ‘सवाल जांच का है और यदि कोई कहता है कि जिस थाली में खाए हैं, उसी थाली में छेद क्यों करते हो? तो मैं आपको बता दूं, यहां थाली की बात नहीं हो रही है। यह थाली नहीं छलनी हो गई है। हम प्लेट के बारे में बात नहीं कर रहे हैं, लेकिन इस पर क्या परोसा जा रहा है बात यह है।’

जांच की आवश्‍यकता है, शोर की नहीं’
मुकेश खन्‍ना ने जया बच्‍चन का नाम लेते हुए कहा कि वो सदन में इतना शोर क्यों कर रही थीं। हम यह नहीं कह रहे हैं कि इंडस्ट्री में हर कोई बुरा है। हम कह रहे हैं कि कुछ बुरे हैं और कुछ अच्छे हैं। इसलिए हम सिर्फ सवाल कर रहे हैं कि कौन बुरा है और कौन अच्छा है? उसके लिए हमें एफबीआई, नारकोटिक्स की जांच की आवश्यकता है। आप विरोध क्यों कर रहे हैं? यदि आप अच्छे लोगों में से हैं तो बैठें और निर्देश की प्रतीक्षा करें। आप क्यों शोर कर रहे हैं?