कोरोना चुनौती को अवसर के रूप में ले रहे कोचिंग स्टूडेंट्स

0
1191

कोटा। कोरोना वायरस का संक्रमण देश ही नहीं वरन पूरे विश्व के लिए बड़ी चुनौती साबित हो रहा है। हर तरफ भय व्याप्त है और पूरी दुनिया में लाॅकडाउन के हालात हैं लेकिन भारत के सबसे ऊर्जावान शहर के भावी डाॅक्टर्स व इंजीनियर्स ने इस चुनौतीपूर्ण समय में भी अवसर तलाश लिया है। यहां पढ़ रहे हजारों स्टूडेंट्स ने इस समय को एक अवसर के रूप में लिया है और इन दिनों जमकर पढ़ाई करने में जुटे हुए हैं।

परीक्षा की तैयारी करते समय इन स्टूडेंट्स के लिए एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट फेकल्टीज की आॅनलाइन हेल्प और गाइड बहुत अधिक सहायक हो रही है। एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट की अकेडमिक टीम द्वारा स्टूडेंट्स को पूरे 24 घंटे की गाइड लाइन दी गई है, जिसमें उन्हें नियमितरूप से कितनी पढ़ाई करनी है, रिक्रिएशन और क्वालिटी टाइम कितना बिताना है इस बारे में दिशा निर्देश दिए गए हैं। स्टूडेंट्स को गाइडलाइन मिलने के बाद अब वे परीक्षा की तैयारी में जुट गए हैं। इसे अवसर समझते हुए कमजोरियां दूर कर रहे हैं तथा स्ट्रांग टाॅपिक्स का रिवीजन कर रहे हैं।

कैसे बांटे 24 घंटे को

  • 7 से 8 घंटे की नींद अवश्य लें।
  • उठने के बाद एक घंटे योगा, ध्यान और वर्कआउट को समय दें।
  • इसके बाद तैयार होकर पढ़ाई करें, फिजिक्स, कैमेस्ट्री, मैथ्स, बाॅयलोजी को अलग-अलग स्लाट में बांट लें।
  • हर विषय के अलग-अलग टाॅपिक्स का समय निर्धारित करते हुए कम से कम तीन-तीन घंटे हर विषय को दें। इसमें रिवीजन और टाॅपिक डिस्कशन शामिल करें।
  • एक घंटे रिक्रिएशनल एक्टिविटी करें। इसमें टीवी देखना, सिंगिंग, म्यूजिक, पेंटिंग, डांस कुछ भी कर सकते हैं।
  • दो घंटे का समय अपनी फैमिली व फ्रेंड्स को दें। यदि दूर हैं तो फोन, वीडियो चेट से बात करें। यदि साथ हैं तो उनसे बातें करें। दोस्तों से बातें करें, अपने अनुभव साझा करें, हंसे-हंसाएं।
  • दो-दिन घंटे नित्य कार्यों को दें, खाना-खाने के बाद पाॅवर नेप लें।

सकारात्मक रहते हुए करें समय का सदुपयोग

  • सकारात्मक रहें, नकारात्मक और भ्रामक खबरों पर विश्वास नहीं करें। यदि कुछ गलत सूचना मिलती है तो विश्वसनीय प्लेटफार्म पर कन्फर्म करें।
  • अपने मेंटर से कनेक्ट रहें, किसी भी तरह की कोई भी समस्या हो तो साझा कर सकते हैं। इसके अलावा हेल्पलाइन नम्बर का भी उपयोग कर सकते हैं। एलन द्वारा हर 50 स्टूडेंट्स पर मेंटर उपलब्ध करवाए गए हैं जो कि स्टूडेंट्स से व्यक्तिगत कनेक्ट रहते हैं और उनकी समस्याओं को संबंधित टीम को पहुंचाते हैं।
  • हमें यह पता नहीं है कि परीक्षा कब होगी लेकिन यह पता है कि परीक्षा कितने बजे होगी। ऐसे में यह बात ध्यान रखें कि परीक्षा समय जैसे सुबह 9.30 से 12.30 और दोपहर 2.30 से 5.30 तक के समय पढ़ाई करें। इस समय को टेबल चेयर पर गुजारें ताकि आपकी बाॅडी की बायलोजिकल क्लाॅक ऐसे समय एक्टिव रहे।
  • इस समय ठण्डा बिल्कुल नहीं खाएं। ऐसे फ्रूट्स खाएं जो आपकी इम्यूनिटी को बढ़ाते हैं।
  • एक से दो सप्ताह के बीच टेस्ट देते रहें ताकि कमजोरी सामने आती रहे। स्ट्रांग टाॅपिक्स को रिवाइज करें, कमजोर टाॅपिक के लिए तैयारी करें।
  • टीचर्स से वीडियो काॅल करके पूछ लें। दोस्तों से वीडियो चेट के जरिए सवालों पर चर्चा कर सकते हैं।

ऐसा लगा मौका मिल गया
मैं परीक्षा के लिए पूरी तरह से तैयार था। जब लाॅकडाउन व कोरोना संक्रमण की बातें आई तो डर लगा लेकिन फिर एलन फेकल्टीज से बात हुई, उन्होंने मुझे इस चुनौती को अवसर में बदलने की बात कही। इसके बाद अब तो मुझे 24 घंटे भी कम लगने लगे हैं। गाइड लाइन की पालना कर रहा हूं ताकि परीक्षा में बेस्ट दे सकूं। सुबह के समय से उठने के बाद रात को सोने तक का शेड्युल बना लिया है। अलग-अलग समय में क्या-क्या सब्जेक्ट पढ़ना है, यह भी तय किया हुआ है।

– वंश मर्दा, जेईई स्टूडेंट, एलन कोटा

कमजोरियां दूर हो रही हैं
यह टाइम मिलने से कमजोरियां दूर हो रही है। जेईई-मैंस अप्रेल करीब आ गई थी और रिवीजन के बावजूद कई टाॅपिक्स में कमजोर रह गया था। ऐसे में जब यह समय मिला तो मैंने इसे अवसर के रूप में लिया और पढ़ाई करना शुरू कर दिया। फेकल्टीज को वीडियो काॅल करके पूरा टाॅपिक समझ लेता हूं, डाउट क्लीयर कर लेता हूं। जब टाॅपिक्स क्लीयर हो रहे हैं तो आत्मविश्वास और अधिक बढ़ रहा है और पढ़ने में और अधिक मन लगने लगा है।

– पार्थ द्विवेदी, जेईई स्टूडेंट, एलन कोटा

चेट पर करते हैं ग्रुप डिस्कशन
लाॅकडाउन के दौरान मैं पूरी तरह से हाॅस्टल में ही रह रहा हूं लेकिन बिल्कुल भी परेशान नहीं हूं। इन दिनों पूरी तरह से रिवीजन पूरा करने में जुटा हुआ हूं। मैं रोजाना अपने दोस्तों के साथ वाट्सअप चेट करता हूं, हम चार दोस्त मिलकर वीडियो चेट के माध्यम से प्राब्लम पर डिस्कशन करते हैं, कुछ इधर-उधर की भी बातें हो जाती हैं तो क्वालिटी टाइम गुजर जाता है। इस समय का हर स्टूडेंट को सदुपयोग करना चाहिए, ताकि परीक्षा में अच्छे अंक ला सके।

दिग्विजय सिंह, नीट स्टूडेंट, एलन कोटा

स्टूडेंट्स समय का सदुपयोग कर रहे
इस संबंध में रोजाना स्टूडेंट्स से बातचीत हो रही है। उन्हें गाइड किया जा रहा है। बच्चे गाइड लाइन फोलो भी कर रहे हैं और इसे एक अवसर के रूप में लेते हुए आगे बढ़ रहे हैं। शेड्युल बनाकर पढ़ाई कर रहे हैं वीडियो काॅलिंग के जरिए अपनी समस्याओं का समाधान कर रहे हैं। मई के अंत में परीक्षाएं होने की संभावनाएं जताई जा रही है, ऐसे में स्टूडेंट्स कमजोरियों को दूर करते हुए स्वयं को तैयार कर रहे हैं। – बृजेश माहेश्वरी, निदेशक, एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट