कवि सम्मलेन में मौका देने के बदले कवयित्री से नाजायज मांग

0
91

काेटा। एक कवि पर कवि सम्मेलन में कविता पाठ का मौका देने के बदले भाेपाल की कवयित्री से नाजायज मांग करने का मामला सामने आया है। कवयित्री लता स्वरांजलि ने इसकाे लेकर साेशल मीडिया पर पोस्ट डालकर विराेध जताया है।

हालांकि इस पाेस्ट में कवि के नाम का उल्लेख नहीं है, लेकिन बातचीत में लता ने कवि प्रेमशात्री का नाम लेकर गंभीर आरोप लगाए हैं। लता का आरोप है कि 9 अक्टूबर काे सवाईमाधाेपुर की ग्राम पंचायत पांचालास में एक कवि सम्मेलन था । इसी आयोजन में काव्यपाठ का माैका देने के बदले प्रेम शास्त्री ने नाजायज मांग की।

लता ने पोस्ट में लिखा हे कि मेरे पिता की उम्र के कवि की इस प्रकार की हरकत से मैं आक्रोशित हूं। जी कर रहा है, समाज की ऐसी गंदगी का सफाया कर दूं। लता ने बताया कि प्रेम शास्त्री ने 4 अक्टूबर सुबह 11:28 बजे फोन किया था।

उधर, प्रेमशास्त्री से जब इस बारे में जानना चाहा तो कवयित्री से काेई बात हाेने से ही इंकार कर दिया। जब लता के फोन करने का समय बताया तो प्रेमशास्त्री ने कहा- बात होती रहती है, लेकिन इस आयाेजन के लिए काेई बात नहीं हुई।