RBI की मौद्रिक समिति की बैठक आज से, महंगाई पर करेगी मंथन

59

मुंबई। रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया की मौद्रिक समिति की बैठक आज से शुरू हो रही है। मौद्रिक नीति समिति (MPC) की तीन दिन चलने वाली इस बैठक में कई अहम फैसले होने की उम्मीद है। आरबीआइ गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता वाली एमपीसी की बैठक 28-30 सितंबर के दौरान होनी है। बैठक के नतीजों की घोषणा 30 सितंबर को की जाएगी।

28-30 सितंबर के दौरान होने वाली भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति की बैठक पर बाजार की भी नजरें टिकी हुई हैं। बता दें कि महंगाई पर काबू पाने के लिए केंद्रीय बैंक ने चालू वित्त वर्ष में रेपो रेट में 140 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की है। यूएस फेड द्वारा दरों में वृद्धि और मुद्रास्फीति के सात फीसद से ऊपर बने रहने के चलते माना जा रहा है कि केंद्रीय बैंक प्रमुख नीतिगत दरों में एक बार फिर से वृद्धि कर सकता है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने मई में रेपो रेट में 40 बेसिस प्वाइंट, जून में 50 बेसिस प्वाइंट और अगस्त में 50 बेसिस प्वाइंट का इजाफा किया है। इसे देखते हुए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि एमपीसी मौद्रिक नीति समीक्षा में दरों को फिर से बढ़ा सकती है।

फिर से रेपो रेट बढ़ा सकता है RBI
माना जा रहा है कि RBI दरों में फिर से 50-बीपीएस की बढ़ोतरी कर सकता है। अगर यह वृद्धि हुई तो ब्याज दरें तीन साल के उच्च स्तर 5.9 प्रतिशत पर पहुंच जाएंगी। वर्तमान दर 5.4 प्रतिशत है। खुदरा मुद्रास्फीति पर आधारित उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई), जिसने मई में नरमी के संकेत दिखाना शुरू किया था, अगस्त में फिर से 7 फीसदी तक मजबूत हुई है। RBI अपनी द्विमासिक मौद्रिक नीति तैयार करते समय खुदरा मुद्रास्फीति को ध्यान में रखता है। यूएस फेड ने लगातार तीसरी बार दरों में बढ़ोतरी की है। ब्रिटेन और यूरोपीय संघ के केंद्रीय बैंकों ने भी मुद्रास्फीति पर काबू पाने के लिए दरों में बढ़ोतरी की है। सरकार ने आरबीआई को यह सुनिश्चित करने का काम सौंपा है कि खुदरा मुद्रास्फीति 4 प्रतिशत पर बनी रहे।