जून में GST कलेक्शन बढ़कर 1.44 लाख करोड़ रुपये रहा, पिछले वर्ष से 56% अधिक

40

नयी दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा कि जून के महीने में माल एवं सेवा कर (जीएसटी) राजस्व बढ़कर 1.44 लाख करोड़ रुपये हो गया जो पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 56 प्रतिशत अधिक है। सीतारमण ने कहा कि जीएसटी संग्रह के लिए 1.4 लाख करोड़ रुपये अब मोटे तौर पर एक निचली सीमा बन चुका है।

इससे पहले मई में, जीएसटी कलेक्शन 1,40,885 करोड़ रुपये था, जो साल-दर-साल 44 फीसदी की वृद्धि थी। आपको बता दें कि जीएसटी लागू होने के बाद यह पांचवीं बार है जब मासिक कलेक्शन 1.40 लाख करोड़ का आंकड़ा पार कर गया है और मार्च 2022 के बाद से चौथा महीना है। वहीं, अप्रैल 2022 के बाद जून में दूसरा सबसे बड़ा कलेक्शन हुआ है।

GST का टॉप कलेक्शन

  • अप्रैल 2022: 1,67,540 करोड़
  • मार्च 2022 : 1,42,095 करोड़
  • जनवरी 2022: 1,40, 986 करोड़
  • मई 2022 : 1,40,885 करोड़
  • फरवरी 2022: 1,33,086 करोड़

GST के 5 साल : भारत के सबसे बड़े टैक्स सुधार माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के 5 साल का सफर पूरा हो गया है। इस 5 साल में हर महीने एक लाख करोड़ रुपये का रेवेन्यू कलेक्शन सामान्य बात हो गई है। आपको बता दें कि माल एवं सेवा कर (जीएसटी) में उत्पाद शुल्क, सेवा कर और वैट जैसे 17 स्थानीय कर और 13 उपकर शामिल किए गए और इसे एक जुलाई, 2017 की मध्यरात्रि को लागू किया गया था।