एचडीएफसी बैंक अर्द्धशहरी और ग्रामीण इलाकों में और शाखाएं खोलेगा

46

कोटा। भारत में गहराई तक उतरने के लिए ग्रामीण बैंकिंग क्रियाकलाप की एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) ने रूपरेखा तैयार की है। बैंकिंग उत्पादों को भीतरी इलाकों में और ज्यादा आगे तक ले जाने के लिए ग्रामीण बैंकिंग इस दिशा में बैंक के मौजूदा अभियानों को संगठित करेगी और उसे अंतिम छोर तक लेकर जाएगी।

बैंक के ‘फ्यूचर रेडी’ प्रोजेक्ट के तहत रिटेल ब्रांच बैंकिंग द्वारा तैयार, ग्रामीण बैंकिंग व्यवसाय अर्द्धशहरी और ग्रामीण इलाकों पर ध्यान केंद्रित करेगा, जिनका एक बड़ा हिस्सा अभी भी इसके दायरे से बाहर है। ग्रामीण इलाकों में अपने वितरण का विस्तार करने के लिए बैंक इस वित्तवर्ष अर्द्धशहरी और ग्रामीण इलाकों में 1,064 से ज्यादा शाखाएं खोलेगा।

मौजूदा समय में बैंक की 6,342 शाखाओं में से 50 प्रतिशत शाखाएं अर्द्धशहरी और ग्रामीण इलाकों में हैं, और शेष 50 प्रतिशत शाखाएं मेट्रो और शहरी इलाकों में हैं। ग्रामीण बैंकिंग व्यवसाय अर्द्धशहरी और ग्रामीण इलाकों में उत्पाद व सेवाओं का संपूर्ण संग्रह प्रदान करेगा। एचडीएफसी बैंक में सीनियर एग्ज़िक्यूटिव वाईस प्रेसिडेंट एवं नेशनल ग्रामीण बैंकिंग हेड अनिल भवनानी ने कहा, ‘‘बैंक की 50 प्रतिशत शाखाएं कई सालों से अर्द्धशहरी और ग्रामीण इलाकों में हैं।

इस वित्तवर्ष अर्द्धशहरी और ग्रामीण इलाकों में और ज्यादा शाखाएं खोलेंगे। ये शाखाएं हमारे टचप्वाईंट्स हैं, जिनके माध्यम से हम इन बाजारों के लिए विशेष रूप से डिज़ाईन किए गए उत्पादों का निर्माण करके ग्रामीण इलाकों की जरूरतों को समग्र रूप से पूरा करने के लिए काम कर रहे हैं।’’