खनन उद्योग में लोडिंग के लिये नई नीति बनाई जाए : व्यापार महासंघ

0
40

कोटा । हाडौती कोटा स्टोन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन की एक बैठक पाषाण भवन में आयोजित की गई। इस अवसर पर कोटा व्यापार महासंघ के महासचिव अशोक माहेश्वरी ने कहा कि वर्तमान में खनन व्यवसाय पर 9 टन लदान को सख्ती से लागू करने से यह व्यवसाय पूरी तरह से चौपट होने की कगार पर आ गया है। राजस्थान में यहां का कोटा एवं सेंड स्टोन खनन उद्योग अव्वल है। हाडौती में भी यह बहुत बड़ा व्यवसाय है। इस कारोबार को जिंदा रखने के लिए राज्य सरकार इस खनन नीति में लोडिंग के लिये 9 टन लदान की छूट प्रदान करे।

माहेश्वरी ने कहा कि मुकंदरा हिल्स में परिसीमन को 10 किमी . से घटाकर 1 किमी के दायरे में करने से पिछले 2 माह से इस दायरे में आने वाली बंद पड़ी खानों के पुनः संचालन का रास्ता खुल जायेगा। साथ ही इससे खनन व्यवसायियों एवं बेरोजगार हुये मजदूरो को राहत मिलेगी। साथ की मुकंदरा हिल्स के नजदीक होने वाली अन्य व्यावसायिक गतिविधियों, होटल व रिसोर्ट का मार्ग भी प्रशस्त होगा।

एसोसिएशन के अध्यक्ष राज नारायण गर्ग एवं सचिव रोहित सूद, कोषाध्यक्ष हरीश प्रजापति ने बताया कि वर्तमान में परिवहन विभाग कोटा स्टोन व सेंड स्टोन के ट्रको को रोक कर 9 टन लदान के नाम पर परेशान कर रहा है। भारी आर्थिक मंदी से गुजर रहा यह उद्योग पूरी तरह से चौपट होने की कगार पर आ गया है। उन्होने कोटा व्यापार महांसघ से अपील की कि वो इस खनन नीति में लोडिंग के लिये परिवर्तन कराकर इस कानून से पत्थर उद्यमियों एवं खनन व्यवसायियों को राहत दिलाये।

बैठक में एसोसिएशन की ओर से अशोक माहेश्वरी का कोटा व्यापार महासंघ में महासचिव पद पर निर्विरोध निर्वाचित होने पर अध्यक्ष राजनारायण गर्ग, संस्थापक अध्यक्ष राजेश गुप्ता, महासचिव रोहित सूद, वरिष्ठ उपाध्यक्ष भगवान न्याती, उपाध्यक्ष पदम जैन, रोहित सेठी, गोविन्द अग्रवाल, कोषाध्यक्ष हरिश प्रजापति सहित कई पदाधिकारियों ने माला, साफा एवं शाल ओढ़ाकर अभिनन्दन किया गया। साथ ही राजेन्द्र जैन का महासंघ में कोषाध्यक्ष पद पर, देवेन्द्र कुमार जैन एवं हरिश प्रजापति का कार्यकारिणी सदस्य निर्वाचित होने पर सम्मानित किया गया।