प्रियंका की बात सुनकर फूट फूट कर रोने लगे सचिन पायलट

0
465

कोटा। कांग्रेस आलाकमान ने सचिन पायलट की पैरवी करने वाली प्रियंका और राहुल से पूछा कि सचिन के कारण पार्टी की प्रतिष्ठा को जो आघात पहुंचा है, उसकी भरपाई कैसे होगी ? दोनों इस सवाल का जवाब नही दे पाए ।

राहुल व प्रियंका ने स्वीकार किया कि सचिन की हरकत किसी भी दृष्टि से क्षम्य नही है। फिर भी पार्टी में आये अवरोध के लिए पायलट की वापसी के बारे में विचार करना उचित कदम होगा । आलाकमान सोनिया गांधी ने फिलहाल इस बारे में कोई स्पस्ट संकेत नही दिया है ।

पता चला है कि बातचीत की पहल केसी वेणुगोपाल की पहल पर हो रही है । वेणुगोपाल और सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल नही चाहते है कि पायलट को वापिस लिया जाए । लेकिन पार्टी संकट के लिए कोई रास्ता निकालना अनिवार्य होगया है । इसलिए नही चाहते हुए भी ये दोनों हस्तक्षेप कर रहे है ।

यह भी ज्ञात हुआ है कि प्रियंका ने बहुत ही तल्ख शब्दों में पायलट को पार्टी से बगावत करने के लिए लताड़ पिलाई । प्रियंका का कहना था कि जो पेड़ आपको छांव दे रहा था, आपने उसको ही काटने का दुस्साहस किया।

प्रियंका की बात सुनकर भावुक होकर पायलट फूट फूट कर रोने लग गए । उंन्होने स्वीकार किया कि भावावेश में उंन्होने यह कदम उठाया था । उम्मीद जताई जा रही है कि कल तक सभी बागी विधायक जयपुर लौट सकते है ।