विद्युत विभाग ने अवैध तरीके से शिफ्ट की 33 केवी की लाइन

0
102

कोटा। यदि आपकों अपने घर के आस पास जा रही विद्युत लाइन को हटवाना है तो उसके लिए विभाग लाखों रुपये जमा करवाता है और कई औपचारिकताएं पूरी करनी होती है। लेकिन यदि विद्युत विभाग अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए बिना औपचारिकता के ही 33 केवी की लाइन बदल दे तो इसके पीछे भ्रष्टाचार व मिलीभगत की बू आती है।

ऐसा ही एक मामला 33 केवी की लाइन को कोलोनाईजर को लाभ पहुंचाने के लिए चोरी छिपे शिफ्ट करने का सामने आया है । इस मामले को लेकर गायत्री विहार बोरखेडा निवासी राम सिंह पुत्र राम रतन मीणा ने संभागीय आयुक्त व जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर हो रहे अनियमितताओं से अवगत कराया है।

राम सिंह ने बताया कि देवली अरब रोड सरकारी स्कूल के सामने कोलोनाइजर ने अपनी कोलोनी के ऊपर से गुजर रही 33 केवी लाइन डीसीएम से दसलाना 3 नम्बर फीडर को बिजली विभाग के सहायक अभियंता केके बंसल से मिली भगत कर अवैध तरह से लाइन को कोलोनी के ऊपर से हटा दिया और साइड में शिफ्ट कर सरकार को लाखों का चूना लगाया है। जहां एक और सरकार को राजस्व की हानि हुई है। उन्होंने इस मामले में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की है।

3 टावर 9 पोल किए शिफ्ट
राम सिंह ने बताया कि डीसीएम 132 केवी जीएसएस से 33\11 केवी जीएसएस दसलाना तक की लाइन को शिफ्ट किया गया है। इस कार्य में 3 टावर व 9 पोल को शिफ्ट किया गया है। जबकी 33 केवी की लाइन को हटाने के लिए सरकार से अनुमति लेनी होती है, वह भी नहीं ली गई। इसके साथ ही अब जहां लाइन को शिफ्ट किया गया है वहां आसपास रहने वालों को समस्या उत्पन्न हो रही है। क्षेत्रवासी भी इसका विरोध कर रहे हैं।