दिल्ली बाजार/ आयातित तेलों की मांग बढ़ने से सोयाबीन में सुधार

0
191

नयी दिल्ली। सस्ते आयातित तेलों की मांग बढ़ने से स्थानीय तेल तिलहन बाजार में बृहस्पतिवार को सोयाबीन डीगम सहित सोयाबीन के अन्य तेलों के भाव में सुधार देखा गया। बाजार में मिला जुला रुख रहा। बाजार सूत्रों ने कहा कि सस्ते आयातित तेलों की व्यावसायिक मांग बढ़ने के बावजूद घरेलू मांग होने से सरसों कीमतें पूर्ववत बनी रहीं।

उधर, वायदा कारोबार में सोयाबीन के अक्टूबर अनुबंध का भाव न्यूनतम समर्थन मूल्य से लगभग सात प्रतिशत नीचे बोला जा रहा है। देश में मूंगफली और सोयाबीन की आगामी फसल भी काफी अच्छी होने की उम्मीद की जा रही है। तेल-तिलहन के बृहस्पतिवार को बंद भाव इस प्रकार रहे- (भाव- रुपये प्रति क्विंटल)

सरसों तिलहन – 4,830- 4,890 (42 प्रतिशत कंडीशन का भाव) रुपये। मूंगफली दाना – 4,640 – 4,690 रुपये। वनस्पति घी- 965 – 1,070 रुपये प्रति टिन। मूंगफली तेल मिल डिलिवरी (गुजरात)- 12,200 रुपये। मूंगफली साल्वेंट रिफाइंड तेल 1,830- 1,880 रुपये प्रति टिन। सरसों तेल दादरी- 10,100 रुपये प्रति क्विंटल। सरसों पक्की घानी- 1,590 – 1,730 रुपये प्रति टिन। सरसों कच्ची घानी- 1,690 – 1,810 रुपये प्रति टिन।

तिल मिल डिलिवरी तेल- 11,000 – 15,000 रुपये। सोयाबीन तेल मिल डिलिवरी दिल्ली- 9,200 रुपये। सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर- 9,050 रुपये। सोयाबीन तेल डीगम- 8,150 रुपये। सीपीओ एक्स-कांडला-7,370 से 7,420 रुपये। बिनौला मिल डिलिवरी (हरियाणा)- 7,950 रुपये। पामोलीन आरबीडी दिल्ली- 8,780 रुपये। पामोलीन कांडला- 8,000 रुपये (बिना जीएसटी के)। सोयाबीन तिलहन डिलिवरी भाव 3,625- 3,650 लूज में 3,360–3,425 रुपये। मक्का खल (सरिस्का) – 3,500 रुपये प्रति क्विंटल।