प्रमुख आर्थिक आंकड़ों, विदेशी संकेतों से तय होगी शेयर बाजार की चाल

0
173

नई दिल्ली। भारतीय शेयर बाजार को इस सप्ताह देश में जारी होने वाले प्रमुख आर्थिक आंकड़ों और बीती तिमाही में घरेलू कंपनियों के वित्तीय परिणामों के साथ-साथ विदेशी बाजारों से मिलने वाले संकेतों से दिशा मिलेगी। खासतौर से अमेरिका-चीन के बीच व्यापारिक वार्ता को लेकर प्रमुख बाजारों की प्रतिक्रिया पर निवेशकों की नजर होगी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में उतार-चढ़ाव और डॉलर के मुकाबले रुपए की चाल का भी घरेलू शेयर बाजार पर असर देखने को मिलेगा।

सप्ताह के आरंभ में सोमवार को यह जानने को मिलेगा कि बीते महीने सितंबर में देश में महंगाई की स्थिति कैसी रही क्योंकि थोक महंगाई के मासिक आधिकारिक आंकड़े जारी होंगे। इससे बाद मंगलवार को सितंबर महीने के ही व्यापार संतुलन के आंकड़े जारी होंगे।

सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को भारतीय रिजर्व बैंक की इस महीने के आरंभ में हुई मौद्रिक समीक्षा बैठक के विवरण प्रकाशित होंगे। वहीं, हिंदुस्तान यूनीलिवर और विप्रो जैसी प्रमुख घरेलू कंपनियों के चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के वित्तीय नतीजे भी इस सप्ताह आने वाले हैं, जिस पर बाजार की नजर होगी। हिंदुस्तान यूनीलिवर के नतीजे सोमवार को जबकि विप्रो के मंगलवार को जारी होंगे।

विदेशी-घरेलू निवेशकों का रुझान भी तय करेगा चाल
साथ ही, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों और घरेलू संस्थागत निवेशकों के निवेश रुझान से बाजार की चाल तय होगी। उधर, अमेरिका और चीन के बीच 15 महीने से चल रहे व्यापारिक टकराव को दूर करने की दिशा में हालिया वार्ता से सकारात्मक संकेत मिले हैं। इस पर सोमवार को बाजार की प्रतिक्रिया देखने को मिलेगी। विदेशी प्रमुख आर्थिक आंकड़ों की बात करें तो चीन में इस साल की तीसरी तिमाही के जीडीपी के आंकड़े शुक्रवार को जारी होंगे। इससे पहले बुधवार को अमेरिका में सितंबर महीने की खुदरा बिक्री के आंकड़े आने वाले हैं।