मुकेश अंबानी को पछाड़ कर गौतम अडाणी एशिया के सबसे अमीर बिजनेसमैन बने

0
89

मुंबई। अडाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडाणी एशिया के सबसे अमीर बिजनेसमैन बन गए हैं। उन्होंने मुकेश अंबानी को पीछे छोड़ दिया है। यह उपलब्धि गौतम अडाणी ने पहली बार हासिल की है। हालांकि दुनिया में रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी 11वें नंबर के जबकि अडाणी 14वें नंबर के सबसे अमीर बिजनेसमैन हैं।

हालांकि खबर लिखे जाने तक यह पता नहीं चला कि अडाणी की संपत्ति कितनी है, पर ब्लूमबर्ग के हवाले से कहा गया है कि गौतम अडाणी एशिया में अब मुकेश अंबानी से आगे हो गए हैं। अभी तक अडाणी एशिया में दूसरे नंबर पर थे। पिछले हफ्ते मुकेश अंबानी की संपत्ति 91 अरब डॉलर थी जबकि अडाणी की संपत्ति 88 अरब डॉलर थी।

गौतम अडाणी की संपत्ति इस साल जनवरी से अब तक 55 अरब डॉलर बढ़ी है। जबकि मुकेश अंबानी की संपत्ति केवल 14.3 अरब डॉलर बढ़ी है। अडाणी की संपत्ति 18 मार्च 2020 को केवल 4.91 अरब डॉलर थी, लेकिन अप्रैल 2020 के बाद उनकी संपत्ति में तेजी आनी शुरू हुई।

ऐसा इसलिए क्योंकि उनकी कंपनियों के शेयर्स 18 महीने में 5-6 गुना तक बढ़े हैं। इन 18 महीनों में उनकी संपत्ति 1808% बढ़ी है और यह 83.89 अरब डॉलर हो गई। इसी दौरान मुकेश अंबानी की संपत्ति 2.5 गुना बढ़कर 91 अरब डॉलर हुई।

दरअसल रिलायंस की सऊदी अरामको के साथ डील टूटने से रिलायंस के शेयर्स पर जबरदस्त दबाव दिखा है। रिलायंस का शेयर पिछले एक हफ्ते में 12% से ज्यादा टूटा है। आज रिलायंस का शेयर 1.48% टूटकर 2,350 रुपए पर आ गया। इसका मार्केट कैप 14.91 लाख करोड़ रुपए रहा। उधर, अडाणी की कंपनियों के शेयर्स में लगातार तेजी रही है।

जून में विदेशी निवेशकों के निवेश की खबर आने के बाद अडाणी के शेयर्स जमकर टूटे थे। अडाणी की 6 कंपनियों के शेयर्स 20 से 60% तक टूटे थे, पर अक्टूबर के बाद से इन शेयर्स में अच्छी-खासी तेजी आई और यह अब एक साल के ऊपरी स्तर पर पहुंच गए हैं। 12 नवंबर को अडाणी की कंपनियों का मार्केट कैप 10 लाख करोड़ रुपए के करीब पहुंच गया था।

3 जुलाई को 7.08 लाख करोड़ था मार्केट कैप
गिरावट की वजह से अडाणी ग्रुप का कुल मार्केट कैप 3 जुलाई को 7.08 लाख करोड़ रुपए हो गया था। हालांकि 11 जून को इन कंपनियों का मार्केट कैप 9.42 लाख करोड़ रुपए था। अब यह आंकड़ा 9.91 लाख करोड़ रुपए है। यानी जुलाई की तुलना में इसमें 2.83 लाख करोड़ रुपए की बढ़त हुई है। इस वजह से गौतम अडाणी जुलाई में दुनिया के अमीर बिजनेसमैन की रैंकिंग में 24वें नंबर पर फिसल गए थे। जुलाई के बाद से इनकी कंपनियों के शेयर्स ने फिर से रिकवर करना शुरू कर दिया था।

12 नवंबर को 98 अरब डॉलर थी नेटवर्थ
मुकेश अंबानी की नेटवर्थ 12 नवंबर को 98.8 अरब डॉलर थी। जुलाई में शेयर्स की कीमत घटने से अडाणी की नेटवर्थ घटकर 63.5 अरब डॉलर हो गई थी। 12 नवंबर को उनकी नेटवर्थ 84 अरब डॉलर हो गई थी। अडाणी की सातवीं कंपनी ने सेबी के पास IPO लाने के लिए अर्जी दी है। इस महीने तक उसे मंजूरी मिलने की उम्मीद है। अडाणी विल्मर FMCG सेक्टर की कंपनी है। इसकी लिस्टिंग के बाद अडाणी की नेटवर्थ में और इजाफा होगा।