वॉट्सएप चैट में पैसे लेकर RAS इंटरव्यू में 80 से ऊपर अंक दिलाने की बात उजागर

0
105

अजमेर। राजस्थान प्रशासनिक सेवा (आरएएस 2018) के इंटरव्यू लगातार सवालों के घेरे में हैं। ताजा मामला एक दलाल और अभ्यर्थी की वॉट्सएप चैटिंग का है। इसमें दलाल न सिर्फ पैसे लेकर इंटरव्यू में 80 से ऊपर नंबर दिलाने की बात कह रहा है, बल्कि आरपीएससी के दो सदस्यों का नाम लेकर उनसे सेटिंग का भी जिक्र कर रहा है। इनमें से एक सदस्य महिला है।

इससे पहले आरपीएससी सदस्य राजकुमारी गुर्जर के पति भैरोसिंह इंटरव्यू में अच्छे नंबर दिलाने के एवज में घूस लेने के मामले में आरोपी बनाए जा चुके हैं। शिकायतकर्ता ने इस वाॅट्सएप चैटिंग के आधार पर एसीबी ने शिकायत की है। मामला एसीबी के संज्ञान में है। एसीबी जांच के बाद जल्द केस दर्ज कर सकती है।

चाैंकाने वाला तथ्य यह है कि दलाल एक अभ्यर्थी से साफ ताैर पर कह रहा है कि -काकाे सा ने जिन-जिन लाेगाें की बात की है उन सभी के 80 से ऊपर नंबर आएंगे। अभ्यर्थी ने पूछा- पैसे दिए हाेंगे सबने, सिफारिश से क्या हाेता है? इस पर दलाल ने जवाब दिया- अब सब का ताे फ्री में काेई नहीं करता।

दलाल ने आरपीएससी के दाे मेंबराें के नाम अभ्यर्थी काे बताए और विश्वास दिलाते हुए कहा था कि यह बैठे हैं ताे सब कुछ हाे जाएगा। उल्लेखनीय है कि 25 लाख रुपए की घूस लेकर आरएएस अफसर बनाने का साैदा करने के मामले में आरपीएससी मेंबर राजकुमारी गुर्जर व उनके पति रिटायर्ड आईपीएस भैराेसिंह एसीबी की जांच के घेरे में हैं, लेकिन मामले के खुलासे के बाद ऐसे कई अभ्यर्थी सामने आने लगे हैं जाे आयाेग के एक और मेंबर पर उंगली उठा रहे हैं। अब अभ्यर्थी दलालाें से बातचीत के साक्ष्य एसीबी काे मुहैया करवा रहे हैं।

व्हाट्सप्प चैट लीक

दलाल ने कहा- जिसके साथ जैसी बनती है, वैसे… अब सबका तो फ्री में नहीं कर सकते… मैं हूं ना, टेंशन मत लो

दलाल- एक अभ्यर्थी है जिसके मेंस में 344 हैं, उसे 84 नंबर (इंटरव्यू में) दिलाए हैं….
अभ्यर्थी- कैसे-कैसे लाेग हैं आरपीएससी में…
दलाल- 25 लाख रुपए।
अभ्यर्थी- टेलेंट का गला घाेंट रहे.. पैसे लेकर।
दलाल- ससुर ने दिए।
अभ्यर्थी- किसके..
दलाल- काकाे सा ने जिन-जिन की बात की, सबके 80 से ऊपर नंबर… 7-8 की लिस्ट है
अभ्यर्थी- पैसे दिए हाेंगे सबने… सिफारिश से क्या हाेता है…
दलाल- बिना पैसे भी … आदमी देख कर
अभ्यर्थी- कैसे?
दलाल- जिसके साथ जैसी बनती है वैसे.. अब सब का ताे काेई फ्री में नहीं करता…..
अभ्यर्थी- हंसने का लाेगाे…
दलाल- एक पुरुष और एक महिला मेंबर के नाम शार्ट में .. दाेनाें बैठे हैं…344 वाले के 84
अभ्यर्थी- जिन्हाेंने पैसे दिए उनके नंबर….
दलाल- दबा के….
अभ्यर्थी- मेरे पास ताे नहीं है इतने पैसे भाई…..ऐसे घाेटाले देखकर मन मर जाता है….
दलाल- मैं हूं ना…. टेंशन नहीं…. ये हैं अपने पास
अभ्यर्थी- काैन हैं… ये
दलाल- काकाे सा….

इंटरव्यू में अच्छे नंबर दिलाने के एवज में 25 लाख की घूस लेकर आरएएस बनाने का साैदा करने के मामले में आरपीएससी मेंबर राजकुमारी गुर्जर के पति भैरोसिंह से एसीबी ने 3 घंटे गहन पूछताछ की। भैरोसिंह ने कहा, घूसखोरी से मेरा काेई लेना-देना नहीं है।

आराेपी नरेन्द्र पाेसवाल उनके रिश्तेदार के टाेल पर कार्यरत था, इसलिए उससे जान-पहचान थी, जबकि सज्जन सिंह से किसी तरह के संबंध से उन्हाेंने इनकार किया है। इस बारे में मामले की जांच कर रहे एडि. एसपी बजरंग सिंह ने बताया कि भैरोंसिंह के बयानाें की तस्दीक की जाएगी। जांच के बाद तय किया जाएगा कि उन्हें वापस बुलाया जाए या नहीं।

आरपीएससी मेंबर राजकुमारी गुर्जर को दफ्तर से अनुपस्थित रहते हुए शुक्रवार को दूसरा सप्ताह होने जा रहा है। गुरुवार को भी उनका कार्यालय बंद ही था। आयोग सदस्य राजकुमारी गुर्जर का मोबाइल फोन भी अब भी स्विच ऑफ आ रहा है। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने शुक्रवार 9 जुलाई को आरपीएससी के जूनियर अकाउंटेंट सज्जन गुर्जर को ट्रेप किया था।

सज्जन गुर्जर ने आयोग सदस्य राजकुमारी गुर्जर के नाम से ही रिश्वत ली थी। जब से इस मामले का खुलासा हुआ है उसी दिन से राजकुमारी गुर्जर आयोग कार्यालय नहीं आ रही हैं। उनकी लगातार अनुपस्थिति विभिन्न चर्चाओं को जन्म दे रही है।