सेंसेक्स 296 अंक उछल कर 52,494 पर खुला, निफ्टी 15,700 के पार

0
80

मुंबई। शेयर बाजार में चौतरफा खरीदारी हो रही है। सेंसेक्स 545.69 अंक उछल कर 52744 के पास ट्रेड कर रहा है और निफ्टी 15,791 के करीब है। दिग्गज शेयरों की तरह छोटे और मझोले शेयरों के इंडेक्स में मजबूती है। निफ्टी मिड कैप में लगभग 1% की तेजी है। निफ्टी स्मॉल कैप लगभग 1.5% ऊपर चल रहा है। बाजार को कमोबेश सभी सेक्टर की कंपनियों के शेयरों में खरीदारी का सपोर्ट मिल रहा है।

अमेरिकी, यूरोपीय और एशियाई शेयर बाजारों में उछाल का असर आज घरेलू बाजार में देखने को मिला है। वायदा बाजार में साप्ताहिक सौदों के सेटलमेंट के दिन, गुरुवार को उसने मजबूत शुरुआत दी है। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 296 पॉइंट की मजबूती के साथ 52,494 पर खुला है। एनएसई निफ्टी ने भी मंगलवार के बंद स्तर से 104 पॉइंट ऊपर 15,736 पर कारोबार की शुरुआत की है।

बुधवार को घरेलू शेयर बाजार बकरीद के मौके पर बंद रहे। एक दिन पहले मंगलवार को बाजार में लगातार तीसरे दिन गिरावट के साथ बंद हुए थे। सेंसेक्स 354.89 पॉइंट यानी 0.68% गिरकर 52,198.51 पर रहा था। निफ्टी 120.30 अंक यानी 0.76% की गिरावट के साथ 15,632.10 पर बंद हुआ था। सेंसेक्स के 30 में से 21 शेयर और निफ्टी के 50 में से 40 शेयर लाल निशान में बंद हुए थे।

मंगलवार को कारोबार के दौरान सेंसेक्स में कुल 452 अंकों जबकि निफ्टी में 150 अंकों का उतार-चढ़ाव हुआ था। बाजार में वोलैटिलिटी का अंदाजा देने वाला इंडिया VIX प्रॉफिट बुकिंग के चलते 4.14% उछल गया था। जानकारों का कहना है कि अगर बाजार में गिरावट आई तो कुल-मिलाकर VIX के निचले लेवल पर बने रहने के चलते अहम सपोर्ट लेवल पर फिर से खरीदारी का रुझान बन सकता है।

एशिया में बिकवाली
आज एशिया के बाजारों में तेजी का रुझान है। जापान के शेयर बाजार आज बंद हैं। चीन के शंघाई कंपोजिट में 0.3% की मजबूती है। हांगकांग के हैंगसेंग में 1.90% का उछाल है। कोरिया का कोस्पी 1.0% ऊपर है। ऑस्ट्रेलिया के ऑल ऑर्डनरी में भी लगभग 1.0% की मजबूती है।

अमेरिका में तेज उछाल
बुधवार को अमेरिकी बाजारों में मजबूती रही। डाऊ जोंस 0.83% की बढ़त के साथ बंद हुआ। नैस्डैक में 0.92% की मजबूती आई। S&P 500 में 0.82% की तेजी रही। यूरोपीय बाजारों में तेज उछाल आया। फ्रांस का CAC 1.85% ऊपर बंद हुआ। ब्रिटेन के FTSE में 1.70% की तेजी आई। जर्मनी के DAX में 1.36% की मजबूती रही।