मुंबई में उड़द और अरहर की कीमतें तेज, मसूर के दाम स्थिर

0
122

नई दिल्ली। बर्मा के बाजार में दाम तेज होने से घरेलू दाल मिलों की हाजिर मांग बढ़ने से गुरूवार को मुंबई में शुरूआती कारोबार में बर्मा उड़द के साथ ही अरहर की कीमतों में बढ़ोतरी दर्ज की गई जबकि मसूर की कीमतें स्थिर बनी रही।

बर्मा के बाजार में कीमतें बढ़ने से घरेलू बाजारों में दाल मिलों की हाजिर मांग में सुधार आया, जिससे लेमन अरहर के साथ ही अरुषा अरहर के दाम मुंबई में 50-150 रुपये तेज होकर क्रमश: 6,150 रुपये और 6,050 रुपये प्रति क्विंटल हो गए।

विदेशों से चेन्नई बंदरगाह पर उड़द की आवक बनने के बावजूद भी दाल मिलों की हाजिर मांग बढ़ने से मुंबई में बर्मा उड़द एफएक्यू नई और पुरानी की कीमतों में 100-100 रुपये की तेजी आकर भाव क्रमशः 6,650 रुपये और 6,550 रुपये प्रति क्विंटल हो गए।भारतीय आयातकों की मांग बढ़ने से बर्मा के दाल बाजार में उड़द एफएक्यू और एसक्यू के साथ ही अरहर लेमन और लिंकी की कीमतों में तेजी दर्ज की गई।

उड़द और अरहर के कुल 300 कंटेनरों का भारतीय आयातकों ने व्यापार किया, इसमें उड़द के लगभग 200 कंटेनर और अरहर के 100 कंटेनर हैं। उड़द एफएक्यू और एसक्यू 2021 की फसल का व्यापार भारत के लिए 730 डॉलर और 830 डॉलर प्रति टन एफओबी के आधार पर हुआ।

अरहर लेमन नई फसल 2021 का व्यापार भारत के लिए 730 डॉलर प्रति टन एफओबी के आधार पर कारोबार किया गया। बाजार के सूत्रों के अनुसार, सरकार द्वारा अरहर, उड़द और मूंग के आयात से मात्रात्मक प्रतिबंध हटा लेने की अनुमति के बाद से हाजिर व्यापार में उड़द के दाम नीचे के बन चुके हैं।

केंद्र सरकार ने अरहर के एमएसपी को 300 रुपये बढ़ाकर 6,300 रुपये तथा उड़द के एमएसपी में भी 300 रुपये की बढ़ोतरी कर भाव 6,300 रुपये प्रति क्विंटल तय किया है। कनाडा की मसूर के दाम 6,350 से 6,450 रुपये और आस्ट्रेलियाई मसूर के दाम 6,550 रुपये प्रति क्विंटल पर स्थिर बने रहे।