कोटा में सभी बाज़ार खोलें जाएं, चाहे समय सीमित हो: कोटा व्यापार महासंघ

0
948
कोटा कलेक्टर को ज्ञापन सौंपता व्यापारियों का प्रतिनिधिमंडल

व्यापारियों का सामूहिक रूप से जन अनुशासन पखवाड़ा के नाम पर लॉकडाउन लगाने का विरोध

कोटा। कोटा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन की अगुवाई में एक प्रतिनिधिमण्डल ने मंगलवार को मुख्यमंत्री के नाम से जिला कलेक्टर को ज्ञापन देकर जन अनुशासन पखवाड़ा के नाम पर लॉकडाउन कर्फ्यू लगाने का विरोध किया। प्रतिनिधिमण्डल ने सभी व्यापारियों के साथ समानता का व्यवहार करते हुए दुकानें खोलने की मांग की ।

कोटा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन, महासचिव अशोक माहेश्वरी एवं जनरल मर्चेन्ट्स एसोसियेशन के अध्यक्ष राकेश जैन ने ज्ञापन देकर जिला कलक्टर उज्जवल राठौर को बताया कि बाज़ारों में किराना, दूध, दही, नमकीन, मिठाई, सब्जी –फल, शराब, खाद्य सामग्री, ग्रेन मण्डी, ई मित्र आदि कई तरह के व्यवसाय खुला होने के कारण बाजारों में पहले की तरह भीड़ तो हो ही रही है।

इस तरह का लॉकडाउन अर्थहीन है। इसमें जनरल मर्चेंट्स, कपड़ा, जूते, फर्नीचर, सर्राफ़ा, स्टेशनरी, इलेक्ट्रॉनिक्स, प्रिंटिंग आदि के ट्रेड व्यापार को बंद किया गया है।जबकि उन व्यापारियों के यहां इतनी भीड़ तो होती ही नहीं है। इनके यहां कोरोना गाइडलाइन की पूरी पालना की जाती है।

जैन एवं माहेश्वरी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से सभी ट्रेड के व्यापार को खोलने की छूट देने की मांग की है। चाहे उसका समय सीमित कर लिया जाये। उन्होंने मुख्यमंत्री से उक्त आदेश को वापस लेने मांग की है। साथ ही राहत प्रदान करते हुए संशोधित आदेश जारी करने की अपील की है।

प्रतिनिधिमण्डल में कोटा व्यापर महासंघ अध्यक्ष क्रांति जैन, महासचिव अशोक माहेश्वरी, जनरल मर्चेंटस एसोसिएशन अध्यक्ष राकेश जैन, कोटा कंफेक्शनरी एसोसिएशन अध्यक्ष रमेश आहूजा, श्री स्वर्ण रजत कला उत्थान समिति अध्यक्ष रमेश सोनी, सुपर साइमन प्लाजा मार्केट अध्यक्ष पवन वाधवानी, शास्त्री मार्केट व्यापार संघ अध्यक्ष सुरेश जैन, पुरानी सब्जी मंडी व्यापार संघ अध्यक्ष सुनील खरबंदा सहित कई व्यापारी संगठनो के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

कोटा एल्युमिनियम ग्लास एसोसिएशन के अध्यक्ष आशीष शर्मा एवं सचिव सजंय विजय, मां वेष्णो व्यापार संघ केशवपुरा के अध्यक्ष शमशेर परमानी, रामपुरा व्यापारी समिति के अध्यक्ष अजय कुमार गुप्ता, सचिव रामलाल नागर ने भी इस तरह के जन अनुशासन पखवाडा के तहत लॉकडाउन का विरोध किया है।