ट्रैक पर बच्चा, सामने से आ रही ट्रेन…वायरल वीडियो

0
156

मुंबई। कई बार किसी आंखों देखी चीज पर भी यकीन नहीं होता, हम ऐसा क्यों कह रहे हैं। इस वीडियो को देखने के बाद शायद कुछ हद तक आपको समझ आ जाए। रेलवे प्लेटफार्म पर मां अपने छोटे से बच्चे के साथ हाथ पकड़ कर जा रही है। अचानक बच्चे का हाथ मां के हाथ से छूटता है और वह जाकर ट्रैक पर गिर जाता है। मां चिल्लाती है उसका बच्चा ट्रैक पर नीचे से चिल्लाता है और कुछ मीटर की दूरी पर सामने से आ रही ट्रेन।

मां और बेटे के बीच कुछ गज की दूरी थी लेकिन मां अपना हाथ उसको खींचने के लिए क्यों नहीं बढ़ा पा रही है। ऐसे लगता है कि मां कोई गलती कर रही है लेकिन किसी को नहीं पता था कि बच्चे की मां को दिखाई नहीं देता वो बस चीख रही थी। बच्चे के सामने मौत खड़ी थी, ट्रेन कुछ मीटर की दूरी तभी तेज दौड़ लगाता एक शख्स आता है और अपनी जान की परवाह किए बगैर बच्चे को बचा लेता है।

यह कोई फिल्मी सीन नहीं था बल्कि हकीकत है। यह पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई। महाराष्ट्र की इस घटना को देखकर हर कोई इस बहादुर रेल कर्मचारी की तारीफ कर रहा है। करे भी क्यों नहीं क्योंकि मयूर शेलके नाम के इस शख्स ने काम ही ऐसा किया है। मयूर शेलके का वीडियो जो भी देख रहा उसको तो एक बार यकीन ही नहीं हो रहा है।

शेलके सबकी नजरों में हीरो
शेलके आज सबकी नजरों में हीरो हैं। शेलके ने बताया कि ड्यूटी पर थे बच्चे को देखा और दौड़ पड़े। बच्चे को ऊपर किया और जैसे तैसे चंद सेकेंड में खुद प्लेटफार्म तक आ सके। उद्यान एक्सप्रेस महाराष्ट्र के वांगनी स्टेशन से गुजर जाती है। शेलके के इस साहस भरे कार्य पर रेलवे को भी नाज है। सेंट्रल रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि शेलके रेलवे फील्ड वर्कर हैं जिनका काम यह देखना होता है कि ट्रेन सिग्नल सही तरीके से काम कर रहा है या नहीं। हमें खुशी है कि शेलके ने नेत्रहीन मां की आवाज सुनी और उसके बच्चे को बचाया।