दिल्ली बाजार/ शादियों में मक्का रिफाइंड तेल की मांग की बढ़ी

0
210

नयी दिल्ली। मंडियों में कम आवक और मांग बढ़ने से दिल्ली तेल-तिलहन बाजार में शनिवार को सोयाबीन तेल तिलहन, बिनौला, सीपीओ और पामोलीन सहित लगभग सभी तेल कीमतों में सुधार का रुख रहा।

तेल उद्योग के जानकारों के अनुसार आयातित तेलों के मुकाबले सस्ता होने से सरसों तेल में मिलावट नहीं हो रही है। इसके अलावा सरसों को काफी स्वास्थ्यप्रद भी माना जाता है जिस तेल की विशेषकर उत्तर भारत में काफी खपत है। विदेशी तेलों में तेजी की वजह से घरेलू तेल तिलहनों के भाव में भी तेजी है और किसानों को अच्छा लाभ मिल रहा है। सूत्रों ने कहा कि यदि यही गति रही, सरकार का समर्थन मिलता रहा और किसानों को अच्छा लाभ मिलता रहा तो तिलहन उत्पादन में हम जल्द ही आत्मनिर्भर होंगे।

उन्होंने कहा कि अभी सूरजमुखी की बिजाई की जानी है जिसे सरकार को बढ़ावा देना चाहिये ताकि यह तेल हमें आयात न करना पड़े। सरसों तथा सोयाबीन, सूरजमुखी के तेल रहित खल (डीओसी) की भी स्थानीय के साथ साथ भारी निर्यात मांग होने से बाकी तेल तिलहनों कीमतों पर भी सकारात्मक असर हुआ।

सूत्रों ने बताया कि निर्यात मांग और स्थानीय मांग की वजह से मूंगफली तेल तिलहन कीमतों में भी पर्याप्त लाभ दर्ज हुआ। मांग बढ़ने की वजह से बिनौला तेल कीमत में भी पर्याप्त सुधार आया। मलेशिया एक्सचेंज में तेजी की वजह से सीपीओ और पामोलीन तेल कीमतों में भी पर्याप्त सुधार देखने को मिला।

सूत्रों ने कहा कि नमकीन बनाने वाली कंपनियों और शादी विवाह के आयोजनों में मक्का रिफाइंड की इन दिनों मांग बढ़ रही है जिससे मक्का तेल कीमतों में भी सुधार आया। उन्होंने कहा कि किसानों को तेल तिलहनों के दाम अच्छे मिलने से महंगाई पर कोई विशेष असर नहीं होगा उल्टा किसान उत्पादन बढ़ाने को प्रोत्साहित होंगे जिससे आत्मनिर्भरता का रास्ता आसान होगा और अर्थव्यवस्था मजबूत होगी।

उन्होंने कहा कि आगामी जून जुलाई के मौसम में सोयाबीन की बिजाई की जानी है और बिजाई के लिए सोयाबीन के बेहतर दाने का इंतजाम पहले से किया जाना चाहिये। बाजार में थोक भाव इस प्रकार रहे- (भाव- रुपये प्रति क्विंटल)

सरसों तिलहन – 7,000 – 7,100 (42 प्रतिशत कंडीशन का भाव) रुपये। मूंगफली दाना – 6,560 – 6,605 रुपये।मूंगफली तेल मिल डिलिवरी (गुजरात)- 16,000 रुपये।मूंगफली साल्वेंट रिफाइंड तेल 2,545 – 2,605 रुपये प्रति टिन।सरसों तेल दादरी- 14,500 रुपये प्रति क्विंटल।सरसों पक्की घानी- 2,205 -2,285 रुपये प्रति टिन। सरसों कच्ची घानी- 2,385 – 2,415 रुपये प्रति टिन।

तिल तेल मिल डिलिवरी – 15,200 – 18,200 रुपये। सोयाबीन तेल मिल डिलिवरी दिल्ली- 15,200 रुपये। सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर- 14,800 रुपये।सोयाबीन तेल डीगम, कांडला- 13,950 रुपये। सीपीओ एक्स-कांडला- 12,100 रुपये।बिनौला मिल डिलिवरी (हरियाणा)- 14,600 रुपये।पामोलिन आरबीडी, दिल्ली- 14,000 रुपये। पामोलिन कांडला 12,900 (बिना जीएसटी के)सोयाबीन दाना 7,250 – 7,300 रुपये: सोयाबीन लूज 7,150 – 7,200 रुपये मक्का खल 3,800 रुपये प्रति क्विंटल ।