उत्पादन कर रहीं सभी फैक्ट्रियां लॉकडाउन के बाहर, उद्योगों के लिए गाइडलाइन जारी

0
2202

कोटा। दी एसएसआई एसोसिएशन भवन में शुक्रवार को जिला उद्योग केंद्र, श्रम विभाग एवं रीको की तरफ से एक संयुक्त बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें सभी संस्थाओं के पदाधिकारी गण मौजूद रहे। बैठक में सर्वप्रथम एसएसआई एसोसिएशन के अध्यक्ष जम्बू कुमार जैन ने रीको और उद्योग विभाग के अधिकारियों से पूछा कि व्यापारियों एवं उद्योगों को लॉकडाउन (lockdown) के दौरान अपने उद्योगों को कैसे चलाना है।

इसके जवाब में श्रम विभाग के ज्वाइंट डायरेक्टर प्रदीप कुमार झा ने बताया कि जिन फैक्ट्री में निरंतर उत्पादन हो रहा है एवं जो फैक्ट्री रात्रिकालीन शिफ्ट में चालू है, उन सभी फैक्ट्रियों को लॉकडाउन के बाहर रखा गया है। परंतु उन सबको कोविड-19(Covid-19) गाइडलाइन की पालना करना जरूरी है। फैक्ट्री परिसर में मास्क, हाथ धोने की व्यवस्था फैक्ट्री के अंदर होनी चाहिए।

एसोसिएशन के संस्थापक अध्यक्ष गोविंद राम मित्तल ने कहा कि हमने पूर्व में भी पूरे तन-मन-धन से प्रशासन का सहयोग किया था। आगे भी हम करेंगे, लेकिन प्रशासन को भी उद्योगों के प्रति सकारात्मक रवैया अपनाने की जरूरत है। उन्होंने कई बिंदुओं पर अपनी बात रखी। इसके जवाब में रीको के सीनियर आरएम एसके गर्ग ने बताया कि कोविड-19 गाइडलाइन की पालना करते हुए सभी इंडस्ट्रीज चालू रहेगी। यहां तक कि गाड़ी भरना व खाली करना, फैक्ट्री के उत्पादन कार्य निरंतर पूर्व की भांति चालू रहेंगे। श्रमिकों को आने -जाने की समस्या दूर करने के लिए फैक्ट्री मालिकों द्वारा एक सत्यापन लेटर या कोई भी कार्ड जारी कर दिया जाए।

कार्ड या लेटर पर कर्मचारी का नाम, फोटो हो और जिस फैक्ट्री में व कार्य करता है उस फैक्ट्री के मालिक द्वारा उसको सत्यापन किया जाए। इससे उन्हें कोई भी रास्ते में परेशान नहीं करेगा। साथ ही उन्होंने अपनी तरफ से पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया। इसी क्रम में लघु उद्योग भारती के अध्यक्ष मनोज राठी ने बताया कि कर्मचारियों को प्रशासन द्वारा पूरा सहयोग देने की मांग की है।

इस पर जिला उद्योग केंद्र के महेंद्र सिंह ने बताया कि जिला प्रशासन उनका पूरा सहयोग करेगा। इस मौके पर फैक्ट्री एंड ब्वॉयलर के नितिन चौधरी ने भी अपने विचार रखे। सभी को इस महामारी से निपटने के लिए अपने आप का ध्यान रखने के सलाह दी। इस मौके पर निर्वाचित अध्यक्ष राजकुमार जैन, सीनियर वाइस प्रेसिडेंट दीपक मेहता, पूर्व अध्यक्ष कमलजीत सिंह, हाडौती कोटा स्टोन इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष आरएनगर्ग, लघु उद्योग भारती के सचिव अमित सिंघल और कई उद्यमी मौजूद थे। अंत में संस्था के सचिव मनीष माहेश्वरी ने सभी का धन्यवाद दिया।