एजुकेशन सिटी कोटा में मेडिकल कॉलेज के 24 छात्र कोरोना पॉजिटिव

0
122

कोटा। राजस्थान की एजुकेशन सिटी कोटा में मेडिकल कॉलेज के 24 स्टूडेंट कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। मेडिकल स्टूडेंट के कोरोना पॉजिटिव मिलने से कॉलेज प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ विजय सरदाना के इस संबंध में जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि स्टूडेंट की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पाए जाने के बाद कॉलेज प्रशासन ने साल 2019 बैच के सेकंड ईयर स्टूडेंट की क्लास को 5 दिन के लिए ब्रेक कर दिया है। सभी 24 स्टूडेंट एमबीबीएस सेकंड ईयर स्टूडेंट है।

5 दिन के लिए क्लास ब्रेक
डॉ सरदाना के मुताबिक जो स्टूडेंट घर जा सकते थे, उन्हें घर भेजा गया है । वहीं बाकी स्टूडेंट को आइसोलेशन करते हुए सेप्रेट रखा गया है। गौरतलब है कि कोटा मेडिकल कॉलेज के साल 2020 एमबीबीएस फर्स्ट ईयर के 21 स्टूडेंट 8 अप्रैल को पॉजिटिव मिले थे , जिनकी क्लास में 5 दिन के लिए ब्रेक करते हुए सभी 21 कोरोना पॉजिटिव स्टूडेंट को घर भेज दिया गया था।

रेमडेसिवर इंजेक्शन की किल्लत
मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल डॉ विजय सरदाना के मुताबिक मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इन दिनों साढ़े 450 के करीब कोरोना पॉजिटिव रोगी भर्ती हैं। सभी का अस्पताल प्रशासन की ओर से उपचार किया जा रहा है। इधर चिंता की बात यह है कि कोरोना पॉजिटिव रोगों के इलाज में काम में लिए जा रहे रेमडेसिवर इंजेक्शन की भारी किल्लत भी यहां सामने आने लगी है। डॉक्टर सरदाना के मुताबिक एक-दो दिन के इंजेक्शन बचे। गंभीर रोगियों के इलाज में सतर्कता बरती जा रही है क्योंकि कोटा में कोरोना रोगियों की रिकवरी रेट में भी गिरावट आई है रिकवरी रेट 90% नीचे चली गई है। 200 से ज्यादा रोगियों को ऑक्सीजन पर रखकर इलाज किया जा रहा है।

कोटा में अब तक 179 लोगों की गई जान
उल्लेखनीय है कि कोरोना के चलते कोटा में अब तक 179 लोगों की जान चली गई है। ऐसे में संक्रमण पर नियंत्रण पाने के लिए जिला प्रशासन लगातार प्रयास कर रहा है। सोमवार को भी कोटा शहर के10 थाना क्षेत्र में निर्धारित इलाकों में जिला कलेक्टर जीरो मोबिलिटी करते हुए कर्फ्यू लगाया है। सोमवार को कोटा में रिकॉर्ड तोड़ 683 नए कोरोना पॉजिटिव केस मिले थे। जिला प्रशासन चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग और पुलिस प्रशासन लगातार लोगों से सोशल डिस्टेंस बनाए रखने और मुंह पर मास्क पहनने की अपील कर रहा है। लेकिन बरती जा रही लापरवाही से फिलहाल केसेज बढ़ रहे हैं।