500 मिलियन LinkedIn यूजर्स का डाटा हुआ लीक, कहीं आप तो नहीं लिस्ट में

0
189

नई दिल्ली। कुछ ही दिन पहले सोशल मीडिया वेबसाइट Facebook के यूजर्स का डाटा ब्रीच मामला सामने आया था। इसे ब्रीच को कंपनी के इतिहास का सबसे बड़ा ब्रीच बताया गया था। इसके तहत 533 मिलियन यूजर्स का डाटा हैकर्स द्वारा हैक किया गया था और उसे ऑनलाइन बेचा भी जा रहा था। यूजर्स अभी भी Facebook डाटा ब्रीच के मामले से उभर भी नहीं पाए थे कि अब एक और बड़ा डाटा ब्रीच सामने आ गया है।

अगर आप LinkedIn यूजर हैं तो यह खबर आपके लिए बेहद अहम है। दरअसल, एक रिपोर्ट के अनुसार, LinkedIn यूजर्स का डाटा ऑनलाइन लीक किया गया है। इसमें 500 मिलियन से ज्यादा यूजर्स का डाटा शामिल है। इस तरह के ब्रीचेज को देख यह कहा जा सकता है इस समय यूजर्स को सतर्क रहने की आवश्यकता है।

क्या है रिपोर्ट में: CyberNews की एक रिपोर्ट के अनुसार, LinkedIn के 500 मिलियन यूजर्स का अहम डाटा डार्कवेब पर देखा गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि लीक हुई जानकारी में LinkedIn आईडी, पूरा नाम, ईमेल एड्रेस, फोन नंबर, जेंडर, LinkedIn प्रोफाइल के लिंक, अन्य सोशल मीडिया प्रोफाइल के लिंक, प्रोफेशनल टाइटल और अन्य काम से संबंधित डेटा शामिल हैं। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि हैकर्स अपडेटेड LinkedIn प्रोफाइल को बेच रहे हैं या नहीं।

LinkedIn का क्या है कहना: LinkedIn ने डाटा ब्रीच को स्वीकार करते हुए कहा है, “इस ब्रीच में वो डाटा शामिल है जिसे सार्वजनिक रूप से देखा जा सकता है जिसे LinkedIn से स्क्रैप किया गया है। यूजर्स ने LinkedIn पर अपने डाटा को लेकर भरोसा जताया है और हम उस भरोसे को कायम रखने के लिए कार्रवाई कर रहे हैं। हमने LinkedIn डाटा के एक कथित सेट की जांच भी की है जो बिक्री के लिए उपलब्ध कराया गया है। साथ ही यह निर्धारित भी किया है कि यह वास्तव में कई वेबसाइटों और कंपनियों के डाटा का एकत्रीकरण है।”

कंपनी ने यह भी कहा है, “इसमें वो डाटा शामिल है जो सार्वजनिक रूप से देखा जा सकता है। यह डाटा ब्रीच LinkedIn से स्क्रैप किया गया समझ आ रहा है। इसमें LinkedIn का कोई भी निजी यूजर अकाउंट डाटा शामिल नहीं है। अगर हमारे यूजर्स का डाटा कोई दुरुपयोग करता है तो वो कंपनी की पॉलिसी का उल्लंघन करता है। अगर कोई भी हमारे यूजर का डाटा बिना उनकी सहमति के इस्तेमाल करता है तो हम उन्हें रोकते हैं और जवाबदेह ठहराते हैं।”

कंपनी द्वार LinkedIn डाटा ब्रीच की जांच शुरू कर दी है जिसमें लाखों यूजर्स की व्यक्तिगत जानकारी को एक्सपोज किया गया है। कंपनी के अधिकारियों ने ब्लूमबर्ग को बताया कि आईडी, पूरा नाम, ईमेल एड्रेस, टेलीफोन नंबर समेत यूजर्स का डाटा इस ब्रीच में शामिल है और इसकी जांच शुरू कर दी गई है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि लीक हुए डाटा का इस्तेमाल टार्गेटेड फिशिंग अटैक, स्पैम 500 मिलियन ईमेल, फोन नंबर और LinkedIn प्रोफाइल और ईमेल एड्रेस के पासवर्डों को खंगालने के लिए के लिए किया जा सकता है। ऐसे में यूजर्स को यह सलाह दी जाती है कि वो अपने LinkedIn अकाउंट के पासवर्ड और अकाउंट से जुड़े ईमेल एड्रेस को बदल लें। साथ ही सभी आधिकारिक अकाउंट्स पर टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन इनेबल कर दें।