परमबीर को डायरेक्ट रिपोर्ट करते थे सचिन वझे, नागराले की रिपोर्ट से हुआ खुलासा

0
42

मुंबई। मनसुख हिरेन हत्या और एंटीलिया विस्फोटक मामले में एनआईए की गिरफ्त में पहुंचे मुंबई पुलिस के निलंबित एपीआई सचिन वझे की मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। मुंबई पुलिस कमिश्नर हेमंत नागराले द्वारा गृह मंत्रालय को भेजी गई एक रिपोर्ट में इस बात का जिक्र किया गया है कि सचिन वझे की डायरेक्ट रिपोर्टिंग परमबीर सिंह को थी। इसके अलावा सचिन वझे को दोबारा पुलिस महकमे में लाने वाले परमबीर सिंह ही थे।

रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस के कई अधिकारी नहीं चाहते थे कि सचिन वझे को दोबारा पुलिस डिपार्टमेंट में लाया जाए बावजूद इसके परमबीर सिंह ने वझे की नियुक्ति करवाई। अधिकारियों की नाराजगी इस बात से भी थी कि एक जूनियर अधिकारी होते हुए भी कई महत्वपूर्ण मामले जांच के लिए सीधे सचिन वझे को दिए जाते थे।

इसके अलावा को सचिन वझे, परमबीर सिंह के साथ कई हाई प्रोफाइल मामलों की ब्रीफिंग के दौरान मंत्रियों के साथ भी बैठक में शामिल होता था। रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र किया गया कि सरकारी गाड़ी की उपलब्धता होने के बावजूद वजह निजी गाड़ियों का इस्तेमाल करते थे।

मनाली ट्रिप में वझे की बाइक यात्रा
इन दिनों सोशल मीडिया में वझे का कर्नाटक में बाइक रेसिंग नाम से एक विडियो वायरल हो रहा है। सूत्रों के अनुसार, यह विडियो 2016 का है। वह कर्नाटक में नहीं, बल्कि हिमालय प्रदेश के मनाली में लग्जरी इटेलियन स्पोर्ट्स बाइक बेनेली से यात्रा कर रहा था। 7.50 लाख रुपये की यह बेनेली बाइक मिस्ट्री वूमन मीना जॉर्ज के नाम पर रजिस्टर्ड है, जिसके पास वझे के अलावा बड़े-बड़े हस्तियों के काले धन को सफेद करने का राज दफन हैं। बताया जा रहा है कि मीना जॉर्ज भी मनाली में उस वक्त थी।

वसई में शिंदे-वझे की मुलाकात
NIA को वसई में शिंदे और वझे के बीच मुलाकात होने की जानकारी मिली है। वसई स्थित एक फॉर्महाउस के करीब लगे एक सीसीटीवी फुटेज से NIA को यह सबूत मिले हैं। हाल ही में मीरा रोड के अलावा वसई स्थित एक फ्लैट पर भी NIA ने छापेमारी कर वहां से कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किए थे।