समर्थन मूल्य पर गेहूं की शत प्रतिशत खरीद हो, एफसीआई को लोक सभाध्यक्ष के निर्देश

0
134

कोटा। कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र में एफसीआई, राजफैड और अन्य एजेंसी किसानों से शत-प्रतिशत गेहूं खरीदेंगी। इसके लिए खरीद केंद्रों की क्षमता बढ़ाई जाएगी। खरीद के लिए नए केंद्र खोले जाएंगे। गेहूं खरीद की प्रक्रिया जल्द पूरी हो इसके लिए नए टोकन भी जारी किए जाएंगे। यह बात लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सोमवार को संसदीय क्षेत्र में गेहूं खरीद की प्रक्रिया की समीक्षा के बाद कही।

ओलावृष्टि से प्रभावित फसल की खरीद के लिए भी लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने एफसीआई के अधिकारियों को पैरामीटर बदलने के निर्देश दिए। बिरला ने कहा कि अधिकारी यह तय करें कि खरीद केंद्र पर आने के बाद किसी भी किसान को लौटाया नहीं जाए। गेहूं की खरीद में अव्यवस्थाओं को लेकर विभिन्न प्रतिनिधि मंडलों ने लोकसभा अध्यक्ष बिरला को जानकारी दी थी। इसके बाद बिरला ने कोटा व बूंदी कलक्टर और एफसीआई और संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की।

बैठक में बिरला ने कहा कि गेहूं खरीद प्रक्रिया के दौरान किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने 120 क्विंटल की सीलिंग को समाप्त करने के कड़े निर्देश दते हुए कहा कि एफसीआई, राजफैड और अन्य एजेसी किसानों से शत प्रतिशत गेहूं की खरीद करेंगी।

बिरला ने कहा कि एफसीआई और राजफैड अपनी खरीद क्षमता को बढ़ाएंगे और प्रतिदिन खरीद की सीलिंग को भी समाप्त करेंगे। उन्होंने कहा कि किसान अपनी उपज को बेचने के लिए 30 जून तक इंतजार नहीं करेंगे।

बैठक में कोटा कलक्टर उज्ज्वल राठौड़, बूंदी कलक्टर आशीष गुप्ता , कोटा शहर पुलिस अधीक्षक विकास पाठक, ग्रामीण पुलिस अधीक्षक शरद चौधरी, एफसीआई और अन्य संबंधित एजेंसियों के अधिकारी भी उपस्थित रहे।

भामाशाहमंडी में प्रतिदिन तुलेगी 30 हजार बोरी
बिरला ने एफसीआई के अधिकारियों को भामाशाहमंडी स्थित खरीद केंद्रों को बढ़ाकर प्रतिदिन 30 हजार बोरी करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि अधिकारी आने वाले दिनों में इसे 50 हजार बोरी तक करने के प्रबंध करें।

एफसीआई देगी बारदाना
बिरला ने एफसीआई के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे मांग के अनुसार राजफैड को तत्काल बारदाना उपलब्ध करवाएं। उन्होंने कोटा और बूंदी कलक्टर से कहा कि वे यह सुनिश्चित करें कि राजफैड के केंद्रों पर जल्द से जल्द तुलाई प्रारंभ हो।

बंटाई के खेतों की उपज भी खरीदी जाएगी
बंटाई पर दिए गए खेतों की उपज को एफसीआई द्वारा नहीं खरीदने की शिकायतों पर भी बिरला ने नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि यह व्यवस्था बरसों से चली आ रही है तथा हर बार एफसीआई इन काश्तकारों की उपज भी खरीदती है। ऐसे काश्तकारों की उपज खरीदने के लिए प्रक्रिया बनाने को कहा।

गोदाम व रैक की व्यवस्था अभी से करें
गेहूं खरीद के बाद उसके रखाव तथ उठान में समस्या नहीं आए इसके लिए भी बिरला ने एफसीआई के अधिकारियों को अभी से तैयारी रखने को कहा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि अधिकारी किराए पर गोदाम लेने के लिए अपने गोदाम भरने का इंतजार नहीं करें। ऐसे करने से खरीद प्रक्रिया बाधित होती है। अधिकारी अभी से गोदाम किराए पर लें। इसके अलावा गेहंू के उठान के लिए भी ट्रेन के रैक की बुकिंग समय पर कर ली जाए। उन्होंने कोटा व बूंदी के कलक्टर को गेहंू के उठाव के लिए एफसीआई को पर्याप्त संख्या में ट्रक उपलब्ध करवाने को भी कहा।