यूट्यूब पर अब ढूंढते रह जाओगे डिसलाइक काउंट, जानिए क्यों

0
262

नई दिल्ली। यदि आपको भी ऐसे वीडियो क्रिएटर्स में से एक हैं जिसे डिसलाइक से दिक्कत है तो यह खबर आपके लिए है। यूट्यूब ने कहा है कि लाइक और डिसलाइक दोनों बटन को प्रयोगात्मक तौर पर लॉन्च किया था लेकिन अब लोग इसका गलत फायदा उठा रहे हैं और किसी खास व्यक्ति या चैनल को अधिक-से-अधिक डिसलाइक करके निशाना बना रहे हैं। ऐसे में अब डिसलाइक काउंट को बंद करने पर विचार किया जा रहा है यानी डिसलाइक बटन तो दिखेगा लेकिन कितने लोगों ने डिसलाइक किया, यह नहीं दिखेगा। 

YouTube ने ट्वीट करके कहा है कि वह जल्द ही डिसलाइक काउंट को बंद करने जा रही है, हालांकि डिसलाइक बटन पहले की तरह ही दिखेगा। कंपनी ने नए अपडेट को लेकर एक स्क्रीनशॉट भी शेयर किया है। कंपनी के मुताबिक वीडियो क्रिएट्स को इसका फायदा मिलेगा। यूट्यूब का कहना है कि डिसलाइक काउंट हटाने से क्रिएटर्स को वास्तविक फीडबैक मिलेगा।

गौरतलब है कि पिछले महीने ही यूट्यूब ने अब अमेरिका के बाहर के यूट्यूब क्रिएटर्स से टैक्स वसूलने का फैसला लिया है यानी यदि आप भारत के यूट्यूबर हैं तो आपको टैक्स देना पड़ेगा, हालांकि इसमें राहत यह है कि आपको सिर्फ उसी व्यूज के टैक्स देने होंगे जो आपको अमेरिकी व्यूअर्स से मिले हैं। यहां गौर करने वाली बात यह है कि अमेरिकी क्रिएटर्स को टैक्स नहीं देना होगा।

आसान शब्दों में कहें तो यदि आप भारत के यूट्यूबर हैं और अमेरिका में कोई आपका वीडियो देख रहा है तो इस व्यूज से आपकी जो कमाई होगी उसका टैक्स आपको यूट्यूब को देना होगा। यूट्यूब की नई टैक्स पॉलिसी की शुरूआत जून 2021 से लागू हो रही है यानी 31 मई तक डेडलाइन है। कंपनी ने नए नियम को लेकर वीडियो भी बनाया है और अपने ट्विटर हैंडल से शेयर भी किया है।

YouTube ने वीडियो क्रिएटर्स से एडसेंस (AdSense) अकाउंट में टैक्स इनफॉर्मेशन सबमिट करने को भी कहा है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यदि आप अपने टैक्स की जानकारी 31 मई 2021 तक नहीं देते हैं तो कंपनी आपकी कुल कमाई से 24 फीसदी तक पैसे काट लेगी।