एफडी पर ब्याज का टैक्स नहीं चुकाया तो पकड़ेगा आयकर विभाग

0
63

नई दिल्ली। इनकम टैक्स अथॉरिटीज की नजर अब उन हजारों लोगों पर जा पड़ी है, जिन्होंने एफडी पर इंट्रेस्ट से मोटी कमाई की है, लेकिन टैक्स नहीं दिया है। पूरा ध्यान उन लोगों पर है जिन्हें 5 लाख रुपये या इससे अधिक की आमदनी सावधि जमा (फिक्स्ड डिपॉजिट या एफडी) पर मिले ब्याज से हुई है।

इनमें कुछ बुजुर्ग (सीनियर सिटिजन) हैं जो अपनी कर योग्य आय में ब्याज से मिली रकम को शामिल नहीं करते या रिटर्न ही फाइल नहीं करते। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के वरिष्ठ अधिकारियों ने यह बात कही।

यह कदम टैक्स बेस बढ़ाने के लिए सरकार की ओर से किए जा रहे प्रयासों का ही एक हिस्सा है। इसके तहत, अधिकारियों का ध्यान उन प्रफेशनल्स पर भी है जो अपनी फी कैश में लेते हैं और अपनी सही आमदनी कभी नहीं बताते जबकि जीते काफी शानो शौकत से हैं।

ऐसे लोगों की पहचान कर उन्हें पकड़ में लाना बहुत मुश्किल है और सर्वे या सर्च में ये लोग तभी पकड़ में आते हैं जब उनकी कमाई के दौरान छापे पड़ जाएं।  एक बड़े अधिकारी ने कहा, ‘हमारी नजर बड़े टैक्स चोरों पर है। छोटे लोगों का पीछा करने का कोई मतलब नहीं बनता है जिन्हें बहुत ज्यादा ब्याज नहीं मिलता है।