फसल खराबे की रिपोर्ट में गलत आंकड़ों को लेकर सड़कों पर उतरे किसान

0
158

कोटा। भारतीय किसान संघ के नेतृत्व में हाड़ौती संभाग में विभिन्न स्थानों पर हल्ला बोल प्रदर्शन किए गए। किसानों ने प्रशासन के द्वारा खराबे की रिपोर्ट में गलत आंकड़े देने का आरोप लगाया। संभागीय प्रवक्ता आशीष मेहता ने बताया कि कोटा जिले में कनवास, सुल्तानपुर, दीगोद, सांगोद, रामगंजमंडी, इटावा, खातौली में प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपे। वहीं झालावाड़ के जिला केन्द्र पर बिजली विभाग के कार्यालय के बाहर जमकर प्रदर्शन किया और शहर भर में रैली निकालकर नारेबाजी की।

बारां के किशनगंज में किसानों ने बिजली विभाग के कार्यालय पर ताला जड़ दिया। किसान संघ के प्रतिनिधियों ने दो दिन पहले हुए प्रशासन से वार्ता के अनुसार काम न करने का आरोप लगाया। वहीं कापरेन बूँदी में भी किसान विभिन्न मांगांे को लेकर सड़कों पर उतरे। इस दौरान किसानों ने प्रशासन के द्वारा खराबा कम बताकर किसानों के हितों के साथ कुठाराघात करने और 2019 का मुआवजा अभी तक नहीं मिलने को लेकर सरकार को घेरा।

भारतीय किसान संघ की ओर से मंगलवार को विभिन्न समस्याओं को लेकर कनवास में उपखण्ड अधिकारी राजेश डागा को जिलाध्यक्ष गिरिराज चैधरी तथा तहसील अध्यक्ष अश्विनी जैन के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपा गया। वहीं झालावाड़ में प्रान्त महामंत्री जगदीश कलमंडा तथा जिलाध्यक्ष रघुनाथ सिंह शक्तावत के नेतृत्व में प्रदर्शन हुए। जिसमें ओलावृष्टि से हुए फसल खराबे का आंकलन कराकर उचित मुआवजे दिलाए जाने की मांग की गई। किसानों ने कहा कि वर्ष 2019 का फसल खराबा भी अभी तक नहीं मिला है, जबकि दूसरी बार फिर आफत ने किसानों की कमर तोड़ दी है।

भारतीय किसान संघ के प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि बिजली विभाग के द्वारा बिना रीडिंग लिए ही किसानों को मनमर्जी के बिल किसानों को दिए जा रहे हैं। भारतीय किसान संघ ने कहा, किसानों की फसल कटकर खेत में तैयार है। राज्य सरकार समर्थन मूल्य पर जिन्स की तुलाई जल्द से जल्द शुरू कराए। इसके लिए हर हल्के पटवारी को लगाया जाए, ताकि किसान को गिरदावरी व नकल के लिए बार बार चक्कर नहीं लगाने पडे़।

किसानों ने बिजली बिल 6 माह में देने, पेनल्टी और विलंब शुल्क माफ करने, कृषि कनेक्शन जारी करने, खेत पर रहने वाले एकल परिवारों को घरेलू कनेक्शन जारी करने की भी मांग मांग रखी। इस दौरान प्रान्त महामंत्री जगदीश कलमंडा, जिलाध्यक्ष गिरिराज चैधरी, रघुनाथ सिंह शक्तावत, तहसील अध्यक्ष अश्विनी कुमार जैन, जिलामंत्री राधेश्माम गुर्जर, सहमंत्री श्रीकिशन पाटीदार, युवा प्रमुख महेश मेहर, सहकारिता प्रमुख पुरीलाल दांगी, प्रचार प्रमुख मुकेश मेहर, तहसील उपाध्यक्ष धन्नालाल प्रजापति, देवली उपाध्यक्ष देवेन्दर, सावनभादो जैविक प्रमुख लक्ष्मीनारायण उमरहेड़ी, सहमन्त्री जगन्नाथ जालीमपुरा, राजेंद्र वर्मा, केवलचंद मानपुरा, केवलचंद कुल्मी, मनोहरलाल दांगी, रामनारायण दांगी, जगदीश शर्मा, पीरुसिंह, मनोहर सिह, कृष्णमुरारी सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे।

झालावाड़ में दिनभर धरना, बारां में जड़ा ताला
भारतीय किसान संघ के जिला अध्यक्ष रघुनाथ सिंह शक्तावत की अध्यक्षता में विभिन्न समस्याओं को लेकर मंगलवार को विद्युत विभाग के एक्सईएन के सामने धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया गया। किसान खंडिया चैपाटी पर एकत्रित होकर रैली के रूप में विद्युत विभाग के कार्यालय पहुंचे। जहां पर 3 घंटा चले धरना प्रदर्शन के बाद एक्सईएन ने प्रदर्शन स्थल पर ज्ञापन लेने से मना कर दिया। जिसके बाद किसान दिनभर धरना स्थल पर डटे रहे। इसके बाद शाम को अधिकारियों ने किसानों को बुलाकर वार्ता की और ज्ञापन लिया। इस दौरान किसानों ने कहा कि क्षेत्र में गलत तरीके से बनाए गए वीसीआर व बिना रीडिंग के बिल जारी हो रहे हैं।

किसानों के ट्रांसफॉर्मर उतारे जा रहे हैं। जिसको लेकर घंटे भर वार्ता चलती रही। प्रान्त महामंत्री जगदीश कलमंडा ने बताया कि किसानों के पास साल में केवल दो ही बार पैसा आता है। इसलिए किसानों के बिल साल में दो बार जारी किए जाएं और मार्च की जगह मई अंतिम माना जाए। जिससे सभी किसानों की फसल बिक जाए और उनके पास पैसा आ जाए। तब पैसा जमा करा सकते हैं। छह महीने से पूर्व किसी किसान का ट्रांसफार्मर नहीं उतारा जाए।