विस्फोटक भरी स्कॉर्पियो के पीछे दिखने वाली सचिन वझे की इनोवा कार भी बरामद

0
199

मुंबई। NIA ने मुंबई पुलिस के अफसर सचिन वझे के साथ पूछताछ कर ली है और अब उन्हें NIA ऑफिस से कोर्ट ले जाया जा रहा है। वझे शनिवार रात एंटीलिया के पास विस्फोटकों से भरी कार रखने में भूमिका निभाने और संलिप्तता के चलते गिरफ्तार किए गए थे।

NIA की टीम ने उस इनोवा कार को भी बरामद कर लिया है, जो एंटीलिया के बाहर खड़ी स्कॉर्पियों के पीछे दो बार नजर आई थी। यह इनोवा शनिवार रात बरामद किया गया था। न्यूज एजेंसी ने जांच एजेंसी के सूत्रों के हवाले से बताया है कि क्राइम ब्रांच में रहते हुए असिस्टेंट इंस्पेक्टर सचिन वझे ही इस कार का इस्तेमाल करते थे। यह भी कहा जा रहा है कि आज इसके ड्राइवर समेत दो और लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है।

वझे का एक और वीडियो वायरल: वझे का एक और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें वे एक स्कॉर्पियो कार के पास दिखाई दे रहे हैं। यह कार हूबहू वैसी ही है, जैसी एंटीलिया के बाहर विस्फोटकों के साथ पार्क की गई थी। महाराष्ट्र ATS अब इस वायरल वीडियो की जांच कर रही है।

सूत्रों के मुताबिक, वीडियो पिछले साल 5 नवंबर का है, जब पुलिस टीम के साथ वझे जर्नलिस्ट अर्नब गोस्वामी को गिरफ्तार कर ले जा रहे थे। इस दौरान रिपब्लिक टीवी की टीम ने उन्हें चेज किया था, तब वझे ने टीम को रोका था। उस वक्त उनके पास वही संदिग्ध कार खड़ी दिखाई दे रही है।

बता दें कि मनसुख हिरेन मौत मामले की जांच महाराष्ट्र एटीएस कर रही है। अब तक न तो मुंबई पुलिस को और न ही एटीएस को मनसुख का मोबाइल मिल सका है। इस रहस्यमय मौत के मामले में मोबाइल अहम सुराग साबित हो सकता है क्योंकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चली मनसुख की मौत की टाइमिंग के बाद तक उसका मोबाइल ऑन था।

बताया जा रहा है कि अपराधियों ने 11.30 बजे तक फोन ऑन रखा था और उसके बाद पुलिस को भटकाने के लिए इसे बंद कर दिया था। सूत्रों का यह भी कहना है कि इस बात की भी आशंका है कि नाले में फेंकने से पहले हिरेन की हत्या कर दी गई थी।