मोहब्बत दोनों तरफ से तो केवल हिंदू लड़की ही क्यों बनती है मुसलमान

0
60

नई दिल्ली। लव जिहाद के मुद्दे पर ‘Republic Bharat’ के डिबेट शो महाभारत में उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने मौलाना सईद-उल-कादरी से जमकर सवाल दागे। दो-टूक पूछा- लड़कियों का शोषण हो रहा है। नाम बदलकर और पहचान छिपा कर लोग उनसे (हिंदू लड़कियों) शादी कर रहे हैं। उन्हें मजबूर किया जाता है। नहीं मानती है, तो हत्या कर दी जाती है। ऐसे में अगर कानून बन रहा है, तब दिक्कत क्या है? जब अपराध मानते हैं, तब ऐतराज क्यों? जो कानून के दायरे में आएगा, वही तो जवाबदेह होगा। आपको आखिर क्या परेशानी है?

18 नवंबर के इस कार्यक्रम में एंकर ने भी इस पर जोर दिया और कहा कि ये कानून अर्धम के खिलाफ है। इसी बीच, रिजवी ने कादरी से एक और सवाल लिया- बहुत से लोगों ने हिंदू लड़कियों से शादी कर के उन्हें मुसलमान बना लिया। अरे, एक उदाहरण दे दीजिए। मोहब्बत दोनों तरफ से है। फिर केवल हिंदू लड़की को ही क्यों मुसलमान बनना पड़ता है?

कादरी इस पर बोले- केंद्रीय एजेंसियों के पास ऐसी कोई शिकायत नहीं है। सुप्रीम कोर्ट कहता है कि ऐसा कोई मामला नहीं है। केरल हाईकोर्ट कहता है कि वहां पर लव जिहाद है ही नहीं। एग्जिस्ट ही नहीं करता। आप क्या बात कर रहे हैं, कहां से आपको यह जानकारी मिल गई?

इसी पर एंकर सुचरिता कुकरेती ने उन्हें टोका और कहा- सर, इलाहाबाद हाईकोर्ट तो यह भी कहता है कि शादी के लिए धर्म परिवर्तन की जरूरत नहीं है। यह हाल-फिलहाल का मामला है। हम इसी की बात कर रहे हैं। अगर राज्य सरकार अपने स्तर पर ये (कानून ला रही हैं) कर रही हैं, तब दिक्कत क्या है?