राजस्थान में 3 अफसरों के 10 ठिकानों पर ACB की रेड, 15 करोड़ की संपत्ति मिली

0
44

जयपुर। राज्य सरकार की भ्रष्टाचार के विरूद्ध जीरो टॉलरेंस पॉलिसी के तहत भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने तीन बड़े अफसरों के खिलाफ आय से अधिक सम्पति मामले में केस दर्ज किया है। इसके बाद ACB की टीमों ने जयपुर, उदयपुर और कोटा में इन तीनों अफसरों के 10 ठिकानों पर शुक्रवार को छापा मारा। इस संंबंध में एसीबी की इंटेलीजेंस शाखा ने शिकायतें मिलने पर निगरानी रखीं। इसके बाद सर्च वारंट लेकर कार्रवाई की जा रही है।

उदयपुर में एसई के पास 8 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति
एसीबी के महानिदेशक बीएल सोनी ने बताया कि भ्रष्टाचार का पहला प्रकरण उदयपुर का सामने आया है। यहां एवीवीएनएल में कार्यरत अधीक्षक अभियंता (एसई) गिरीश कुमार जोशी के खिलाफ दर्ज किया गया। इसके यहां 4 ठिकानों पर एसीबी उदयपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुधीर जोशी के नेतृत्व में की जा रही है। प्रारंभिक जानकारी में गिरीश कुमार जोशी द्वारा आय के आनुपातिक रूप से 8 करोड़ से अधिक अवैध सम्पति अर्जित करने का अनुमान है।

  • शाेभागपुरा में 2 हजार स्क्वायर फीट का व्यवसायिक भूखंड और यहीं 6896 स्क्वायर फीट कृषि भूखंड।
  • कुंडाल गांव में 4 बीघा का कृषि फार्म।
  • बड़गांव के पावड़िया में 9 बीघा कृषि भूमि।
  • आशीर्वाद नगर में 2600 स्क्वायर फीट में बना रिहायशी मकान।
  • करीब 50 लाख के बेनामी कृषि भूमि के अनुबंध पत्र।
  • इसवाल के सेलू गांव में अन्ना पुत्र रूपा के नाम पर 3.14 हेक्टेयर कृषि भूमि
  • बैंक खातों में प्राथमिक जांच में 25 लाख रुपए।
  • कैनरा बैंक की मधुबन शाखा के लाॅकर की चाबी।
  • जोशी और उनके परिजनों के नाम पर 23 बैंक खाते।
  • एलआईसी और बॉन्ड निवेश के दस्तावेज मिले हैं।

बूंदी में सहायक विकास अधिकारी के पास 2.68 करोड़ की अवैध संपत्ति
डीजी बीएल सोनी के मुताबिक भ्रष्टाचार व आय से ज्यादा संपत्ति का दूसरा मामला बूंदी के केशोरायपाटन में पंचायत समिति के सहायक विकास अधिकारी चिरंजीलाल के खिलाफ दर्ज किया गया। इसके यहां भी एसीबी कोटा देहात की एडिशनल एसपी प्रेरणा शेखावत के नेतृत्व में चार ठिकानों पर छापा मारा गया। सर्च कार्रवाई में आरोपी चिरंजीलाल द्वारा 2.68 करोड़ की अवैध सम्पति अर्जित करने का अनुमान है।

रीको के सीनियर डीजीएम के पास 4.13 करोड की अवैध सम्पति
वहीं, तीसरी एफआईआर जयपुर में सतीश कुमार गुप्ता, सीनियर डी.जी.एम. (सिविल) रीको के खिलाफ दर्ज की गई। वह रीको जयपुर में अधीक्षण अभियंता स्तर के अधिकारी है। इनके दो ठिकानों पर एडिशनल एसपी आलोक शर्मा, एसीबी जयपुर शहर (प्रथम) के निर्देशन में की जा रही है। जानकारी के अनुसार आरोपी सतीश कुमार गुप्ता द्वारा प्रथमदृष्टया 4.13 करोड की अवैध सम्पति अर्जित करने का अनुमान है। इन तीनों सर्च ऑपरेशन को एडीजी दिनेश एम.एन. के निर्देशन में इन्टेलीजेन्स शाखा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चन्द्र प्रकाश शर्मा एवं अन्य टीमों द्वारा किया जा रहा है।