कोटा में दो सगे भाईयों ने पांचवी बार किया प्लाज्मा डोनेशन

0
56

कोटा। दो सगे भाईयों ने पांचवी बार प्लाज्मा डोनेशन कर अविस्मरणीय संदेश दिया है। जहां लोग एक बार प्लाज्मा डोनेशन करने में निराश महसूस करते हैं वहीं ये भाई केवल 15 दिन पूरे होने के साथ री एक्टिव एंटीबॉडी का इंतजार करते हैं। टीम जीवनदाता के संयोजक व लायंस क्लब के जोन चेयरमैन भुवनेश गुप्ता ने बताया कि भगत सिंह कॉलोनी निवासी धीरज गुप्ता तेज व उनके भाई पंकज गुप्ता ए पॉजीटिव ने पांचवी बार प्लाज्मा डोनेशन का रिकॉर्ड बनाया है। राजस्थान सहित पूरे देश में संभवतया कहीं भी ऐसा मामला सामने नहीं आया है जब दो सगे भाईयों ने एक साथ पांच बार प्लाज्मा डोनेशन किया हो।

रेलवे उपभोक्ता सलाहकार समिति के सदस्य धीरज गुप्ता ने बताया कि वह बार-बार इसलिए आ रहे हैं कि कहीं कोई उन्हें देख कर एक बार भी प्लाज्मा डोनेशन के लिए आया तो उनका प्लाज्मा डोनेशन करने का उद्देश्य सफल होगा। इन भाईयों के सेवा कार्य से अब तक 20 कोरोना मरीज लाभांवित हो चुके हैं। धीरज गुप्ता ने कहा कि मानव शरीर में देने योग्य दृव्य का दान शरीर के साथ मानसिक तौर पर भी मजबूती प्रदान करता है। इस दौरान लायंस क्लब रिजन चेयरमैन रजनी गुप्ता ने दोनो भाईयों का माला पहनाकर सम्मान किया। रजनी गुप्ता ने कहा कि ब्लड बैंक में और भी कहीं समस्या आएगी तो उसके लिए क्लब द्वारा उसका समाधान किया जाएगा। इस अवसर पर इंजीनियर पुनीत अग्रवाल, एडवोकेट महेन्द्र वर्मा व नितिन मेहता का सहयोग रहा।

समर्पण ही संस्कार हैं
भारतीय संस्कृति में दूसरों की सेवा के लिए किया गया समर्पण ही संस्कार हैं। और ये संस्कार हमे हमारे परिवार में बचपन से ही मिले हैं। सीनियर सेल्स मेनेजर पंकज गुप्ता ने बताया कि उन्होंने अब तक 55 बार रक्तदान किया है। भाई धीरज गुप्ता ने 88 बार रक्तदान, 2 बार एसडपी और अब पांच बार प्लाज्मा डोनेशन कर लोगों के मन में बैठे डर को निकालना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि सेवा का अवसर सदा मिलता रहे इसमें ही हमे अपार खुशी मिलती है। भुवनेश गुप्ता ने कहा कि निरंतर प्लाज्मा डोनेशन करने वाले डोनर्स के कारण ही कोटा का नाम रोशन हो रहा है। लोगों को प्लाज्मा डोनेशन के लिए आगे आना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here