इंजीनियरिंग शिक्षा को आधुनिक एवं विश्वस्तरीय बनाएंगे – राजे

0
57

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि प्रदेश में उच्च तकनीकी शिक्षा खासकर इंजीनियरिंग कॉलेजों के विकास के लिए योजना तैयार की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 5 से 6 ऎसे विश्व स्तरीय इंजीनियरिंग कॉलेज होने चाहिए जहां युवाओं को आधुनिक इंजीनियरिंग शिक्षा के बेहतर अवसर उपलब्ध हों। उन्होंने इसके लिए एक रोडमैप तैयार करने के भी निर्देश दिए।  

राजे शनिवार को मुख्यमंत्री कार्यालय में मुख्यमंत्री सलाहकार परिषद की चौथी बैठक को सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि पिछले तीन साल में राजस्थान ने विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय प्रगति की है। प्रदेश की इस प्रगति को दिशा देने में परिषद के सदस्यों द्वारा दिए गये बहुमूल्य सुझावों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। 

युवा चैलेंज फोर चेंज स्वीकार करें, सरकार को नवाचार सुझाएं 
आह्वान किया कि प्रदेश के युवा अपने नए विचारों के साथ बेहतर एवं प्रभावी सर्विस डिलिवरी और त्वरित गति से कार्याें को पूरा करने के सरकार के प्रयासों में आगे बढ़कर योगदान दें।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ’चैलेंज फोर चेंज’ प्लेटफार्म विकसित करना चाहती है, जहां लोग सरकार के समक्ष मौजूद चुनौतियों का समाधान उपलब्ध करा सकें। इससे नवाचारों को बढ़ावा देने वाला एक प्रभावी तंत्र विकसित होगा और तकनीक का उपयोग भी बढ़ेगा। 

सफल रहा फेस्टिवल ऑफ एजुकेशन का आयोजन
राजे ने कहा कि हाल ही जयपुर में दक्षिण-पूर्व एशिया का पहला फेस्टिवल ऑफ एजुकेशन आयोजित किया गया जो उम्मीद से ज्यादा सफल रहा। उन्होंने मुख्यमंत्री सलाहकार परिषद के सदस्यों को राज्य की राजधानी को मिलने वाली तीन सौगातों के बारे में जानकारी दी।