भारतीय मूल की कमला हैरिस बनीं अमेरिका की उपराष्ट्रपति, जानें खास किस्सा

0
77

नई दिल्ली। कमला हैरिस (Kamala Harris Latest News) के ट्विटर पेज का कवर जिस पर लिखा है ‘Keep the Faith’ यानी यकीन बनाए रखिए। अब बायो भी बदला जा चुका है। इसके साथ ही हर भारतीय गर्व से लबरेज है। वजह है कि भारतीय मूल की कमला हैरिस अब अमेरिका की उपराष्ट्रपति बन गई हैं। एक ट्वीट जिसमें वह मुस्कान के साथ कहती दिख रही हैं कि हमने यह कर दिखाया जो (Joe Biden)…आप अमेरिका के अगले राष्ट्रपति बनने जा रहे हो। खैर, इन सबके साथ ही इस बात को जान लेना जरूरी है कि कमला हैरिस पहली भारतीय मूल की महिला होंगी, जो अमेरिका के उपराष्ट्रपति पद का पदभार ग्रहण करेंगी।

कमला हैरिस ने एक वीडियो भी शेयर किया है। जिसके साथ वह लिखती हैं, ‘यह चुनाव मेरे लिए या जो बाइडन के लिए बहुत कुछ है। यह अमेरिका की आत्मा और इसकी लड़ाई के लिए हमारी इच्छाशक्ति के बारे में है। आगे हमारा बहुत काम है। आइए शुरू करते हैं।’

जानें, कौन हैं कमला हैरिस
कमला हैरिस ने 21 जनवरी 2019 को राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपनी उम्मीदवारी की घोषणा की थी। यही नहीं, इसके बाद हैरिस ने 3 दिसबंर को अपना नाम वापस भी ले लिया। कमला हैरिस का जन्म 1964 में ऑकलैंड में हुआ था। कमला की मां का नाम श्यामला गोपालन हैरिस है जबकि उनके पिता जमैका से हैं। उनका नाम डोनाल्ड हैरिस है। वह स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में इकनॉमिक्स के प्रफेसर भी रहे।

‘108 नारियल, पूरा दिन लगा’
कमला हैरिस ने भारत से जुड़ा एक किस्सा भी साझा किया था। बात कुछ यूं थी कि भारतीय और अफ्रीकी मूल की पहली अमेरिकी सीनेटर कमला हैरिस ने एक बार भारत में अपनी मौसी सरला गोपालन से कहा था कि वह उनके अच्छे भविष्य के लिए मंदिर में नारियल फोड़ें। कमला उन दिनों चेन्नै में थीं। जिस मंदिर में कमला ने नारियल फोड़ने को कहा था वह बसंत नगर इलाके में समुद्र तट के पास था। कमला हैरिस की मौसी ने यहां 108 नारियल फोड़ने के लिए रखे थे। वह बताती हैं कि इसकी व्यवस्था करने में पूरा दिन लग गया था।

यूं इतिहास में दर्ज कराया नाम
कमला 1998 में ब्राउन यूनिवर्सिटी से ग्रैजुएट हुईं। फिर उन्होंने कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी से कानून की डिग्री हासिल की। इसके बाद कमला ने सैन फ्रांसिस्को डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी ऑफिस जॉइन किया। यहां कमला हैरिस को करियर क्रिमिनल यूनिट का इंचार्ज बनाया गया था। फिर 2003 में कमला हैरिस को सिटी और सैन फ्रांसिस्को के काउंटी की डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी चुना गया था। फिर कमला हैरिस ने कैलिफोर्निया की अटॉर्नी जनरल बनकर इतिहास में नाम दर्ज कराया।

तमिलनाडु के इन गांवों में जश्न
अमेरिका के उपराष्ट्रपति पद पर कमला हैरिस के काबिज होने पर तमिलनाडु के तिरुवरूर जिले में स्थित तुलासेंतिरापुरम गांव और पेंगानाडु गांव में उत्सव का माहौल है। दरअसल, हैरिस के नाना पी.वी. गोपालन पूर्व राजनयिक तथा तुलासेंतिरापुरम गांव के निवासी थे। उनकी नानी राजम नजदीक के पेंगानाडु गांव से हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here