अक्टूबर में GST संग्रह फरवरी के बाद पहली बार 1 लाख करोड़ के पार

0
80

नई दिल्ली। अक्टूबर में जीएसटी संग्रह 1.05 लाख करोड़ से अधिक रहा है, फ़रवरी के बाद से पहली बार संग्रह का आकंडा 1 लाख करोड़ के पार गया है। वित्त मंत्रालय ने रविवार को यह जानकारी दी।

कोरोना की वजह से लागू किए गए लॉकडाउन से आर्थिक गतिविधि रुकने से माल और सेवा कर (GST) संग्रह मनोवैज्ञानिक रूप से 1 लाख करोड़ के आंकड़े से कम हो गया। अक्टूबर, 2020 के महीने में सकल माल और सेवा कर (GST) का राजस्व 1,05,155 करोड़ है, जिसमें CGST, 19,193 करोड़, SGST 25,411 करोड़, IGST 52,540 करोड़ (आयात पर एकत्र रुपये 23375 करोड़) और उपकर, 8,011 करोड़ रहा।

31 अक्टूबर 2020 तक GSTR-3B रिटर्न की कुल संख्या 80 लाख है। सितंबर में GST संग्रह 95,480 करोड़ रुपये था। अक्टूबर, 2020 में केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा नियमित निपटान के बाद अर्जित कुल राजस्व, CGST के लिए 85 44,285 करोड़ और SGST के लिए 39 44,839 करोड़ रहा है।

इस महीने के लिए राजस्व पिछले साल के इसी महीने में जीएसटी राजस्व से 10% अधिक है। इसके अलावा माल के आयात से राजस्व 9% अधिक और घरेलू लेनदेन (सेवाओं के आयात सहित) से राजस्व 11% अधिक रहा है, जो पिछले साल इसी महीने के दौरान इन स्रोतों से राजस्व था।