ICICI बैंक को दूसरी तिमाही में 4,251 करोड़ रुपए का फायदा

0
438

नई दिल्ली। निजी क्षेत्र के दूसरे सबसे बड़े बैंक ICICI बैंक को दूसरी तिमाही में 4,251 करोड़ रुपए का शुद्ध फायदा हुआ है। एक साल पहले समान तिमाही में हुए 655 करोड़ रुपए की तुलना में यह लाभ 6 गुना बढ़ा है। बैंक ने शनिवार को अपना रिजल्ट जारी किया। बैंक का शेयर बीएसई पर शुक्रवार को 392 रुपए पर बंद हुआ था।

बैंक ने बताया कि उसकी शुद्ध ब्याज आय (NII) इसी दौरान 16 % बढ़कर सालाना आधार पर 9,366 करोड़ रुपए रही है। एक साल पहले जुलाई-सितंबर में यह आंकड़ा 8,057 करोड़ रुपए था। कुल जमा राशि बैंक की 20% बढ़कर सालाना आधार पर 8 लाख 32 हजार 936 करोड़ रुपए हो गई है। चालू और बचत खाता (कासा) डिपॉजिट में 17% की ग्रोथ हुई है।

टर्म डिपॉजिट 26 पर्सेंट बढ़ी
बैंक ने बताया कि इसकी टर्म डिपॉजिट में 26% की बढ़त हुई है। बैंक का घरेलू स्तर पर दिया गया कर्ज 10% सालाना आधार पर जबकि 4 पर्सेंट तिमाही आधार पर बढ़ा है। रिटेल लोन सालाना आधार पर 13% और तिमाही आधार पर 6% बढ़ा है। बैंक ने बताया कि मोर्गेज, ऑटो लोन का स्तर सितंबर तिमाही में कोरोना के पहले के स्तर पर पहुंच गया है। बैंक ने बताया कि क्रेडिट कार्ड से खर्च कोविड के पहले के 85% के स्तर पर पहुंच गया है। इसमें हेल्थ, वेलनेस इलेक्ट्रॉनिक्स और ई-कॉमर्स जैसे सेक्टर में खरीदी की गई है।

एनपीए में आई कमी
बैंक ने बताया कि जुलाई से सितंबर के दौरान उसका ग्रॉस बुरा फंसा कर्ज NPA 5.17 पर्सेंट रहा है जो एक साल पहले 6.37% था। शुद्ध NPA जून तिमाही में 1.23% से घटकर 1% पर आ गया है। तिमाही के दौरान बैंक ने रिकवरी की जिससे उसके NPA में कमी आई। इस साल की पहली तिमाही में बैंक का शुद्ध लाभ 1,131 करोड़ रुपए था। बैंक के पास कुल 5,288 शाखाएं हैं जबकि 15 हजार 158 एटीएम हैं।

उधर, कोरोना काल में रिलैक्सो फुटवेयर्स का भी मुनाफा बढ़ा है। शनिवार को कंपनी ने सितंबर समाप्त तिमाही का परिमाण घोषित किया। रिलैक्सो फुटवेयर्स लिमिटेड ने दूसरी तिमाही में 6.46 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। इस तिमाही कंपनी का शुद्ध लाभ 75.10 करोड़ रुपए रहा। पहली तिमाही में कंपनी ने 70.54 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ दर्ज किया था।

उसकी ऑपरेटिंग इनकम 7.38 प्रतिशत गिरकर 575.87 करोड़ रुपए रही। पिछले साल इसी तिमाही में यह आय 621.77 करोड़ रुपए थी। इस दौरान कंपनी का कुल खर्च 12.48 प्रतिशत घटकर 480.56 करोड़ रुपए पर आ गया। पिछले साल इस दौरान यह 549.12 करोड़ रुपए था। रिलैक्सो फुटवेयर्स ने कहा कि कंपनी के संचालन लगभग कोविड के पहले जैसे ​​स्तर पर है। लिक्विडिटी की स्थिति भी काफी अच्छी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here