कंगना रनोट बोलीं- सरदार पटेल प्रधानमंत्री नहीं बने, क्योंकि गांधीजी नहीं चाहते थे

0
258

मुंबई। लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल की 145वीं जयंती पर कंगना रनोट ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। इसके साथ ही उन्होंने महात्मा गांधी और पंडित जवाहरलाल नेहरू पर जमकर निशाना साधा। कंगना ने सरदार पटेल के समझौतों के लिए गांधीजी को जिम्मेदार ठहराया। साथ ही पटेल द्वारा स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री के पद से समझौते पर खेद जताया। कंगना के तीन ट्वीट…

पहला ट्वीट- गांधीजी की वजह से पीएम नहीं बने पटेल

कंगना ने पहले ट्वीट में लिखा, ‘‘उन्होंने गांधीजी की खुशी के लिए भारत के पहले प्रधानमंत्री के रूप में सबसे योग्य और निर्वाचित पद ठुकरा दिया, क्योंकि उन्हें (गांधीजी) को लगता था कि नेहरू बेहतर अंग्रेजी बोलते हैं। सरदार पटेल को नुकसान नहीं हुआ, लेकिन देश ने दशकों इसका परिणाम झेला। हमारे लिए जो सही है, उसे हमें बेशर्मी से छीनना चाहिए।’’

दूसरा ट्वीट- गांधीजी कमजोर दिमाग चाहते थे

कंगना ने अगले ट्वीट में सरदार पटेल को भारत का असली लौहपुरुष बताते हुए लिखा, ‘‘मेरा मानना है कि गांधीजी, नेहरू की तरह एक कमजोर दिमाग चाहते थे, ताकि वे खुद को सामने रखकर देश को कंट्रोल कर सकें और इसे चला सकें। प्लान अच्छा था, लेकिन गांधीजी की हत्या के बाद जो हुआ, वह डिजास्टर था।”

तीसरा ट्वीट- आपके फैसले का गहरा अफसोस है

‘‘भारत के लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि। आप वो इंसान हैं, जिसने हमें आज का अखंड भारत दिया। लेकिन प्रधानमंत्री पद से समझौता कर आप अपना महान नेतृत्व और विजन हमसे दूर ले गए। हमें आपके फैसले का गहरा अफसोस है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here