Covid-19 महामारी के दौरान तनाव मुक्त कैसे रहें, वेबिनार में जाना

0
27

कोटा। ISTD कोटा चैप्टर और कोटा ज्ञानद्वार एज्युकेशन सोसायटी की ओर से covid 19 महामारी के दौरान तनाव प्रबंधन” पर एक वेबिनार का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का संचालन करते हुए डॉ पारुल ने कहा कि शांति सरलता में निहित है! इसलिए हमें जटिल नहीं होना चाहिए, केवल जीवन के सरल चरणों का अनुकूलन और पालन करना चाहिए, जो सामान्य स्थिति की भावना लाने में मदद कर सकते हैं और हमें बदलते पर्यावरण से निपटने में मदद कर सकते हैं। चैयरपरसन अनीता चौहान स्वागत भाषण दिया।

डॉ. एम एल अग्रवाल ने कहा कि तनाव नकारात्मक और सकारात्मक है और हमारे पास इसके सकारात्मक पहलुओं को चुनने का विकल्प है। तनाव का प्रबंधन सबसे महत्वपूर्ण है और किसी को तनाव के प्रबंधन के लिए पेशेवर मदद लेने में संकोच नहीं करना चाहिए।

चम्बल फर्टीलाईज़र गढ़ेपान के श्रीनिवासन ने कारणों और तनाव की टाइपोलॉजी पर चर्चा की और आकस्मिक स्थिति में खुद को स्ट्रेस फ्री करने के बहुत सार्थक तरीकों पर चर्चा की। उन्होंने तनाव को दूर करने के तरीके बताते हुए कहा कि अपने प्रियजनों को अपने आसपास रखने की कोशिश करें।

यदि आप अपने दम पर अपनी चिंता का प्रबंधन करने में असमर्थ हैं, तो टेलीफोन पर काउंसलर से संपर्क करें। इस चुनौतीपूर्ण समय के दौरान अपनी शारीरिक और भावनात्मक देखभाल के लिए कुछ ऐसे तरीके हैं जिनकी ओर कदम उठा सकते हैं:

  • अच्छी स्वच्छता का अभ्यास करें
  • अपने आप को व्यक्त करने के तरीके खोजें
  • अपने पुराने और भूले हुए शौक को पुनर्जीवित और अभ्यास करें
  • जब आप कर सकते हैं तो लोगों की मदद करने का प्रस्ताव
  • अपना मनोरंजन करें
  • व्यवस्थित हो जाओ

वेबीनार में नेशनल प्रेसीडेंट कलकत्ता से डॉ नटराज रे, लखनऊ से प्रमोद , दिल्ली से मुकेश जैन, बड़ौदा से पी वी खुबालकर आदि ने अपने विचार रखे।