रेलवे प्लेटफॉर्म का टिकट 50 रुपये करने पर बवाल, रेलवे ने दी सफाई

0
90

नई दिल्ली। रेलवे के पुणे डिवीजन में प्लेटफॉर्म टिकट (Platform Ticket) की कीमत पांच गुना बढ़ाकर 50 रुपये कर दी है। रेलवे के इस फैसले के बाद सोशल सोशल मीडिया से लेकर सियासी हलकों तक में बवाल मचा हुआ है। प्लेटफॉर्म टिकट में अचानक पांच गुना बढ़ोतरी के फैसले ने सभी को सकते में डाल दिया है। हालांकि रेलवे के प्रवक्ता ने इस पर सफाई देते हुए कहा कि कोरोना महामारी (Covid-19 pandemic) को देखते हुए प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत को बढ़ाकर 50 रुपये किया गया है।

रेलवे के प्रवक्ता ने ट्वीट करके कहा, ‘पुणे जंक्शन द्वारा प्लेटफार्म टिकट का मूल्य 50 रुपये रखने का उद्देश्य अनावश्यक रूप से स्टेशन पर आने वालों पर रोक लगाना है जिससे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा सके। रेलवे प्लेटफॉर्म टिकट की दरों को कोरोना महामारी के शुरुआती दिनों से ही इसी प्रकार नियंत्रित करता आया है।’ प्लेटफॉर्म टिकट दो घंटे के लिए वैध होता है। यदि आप रेलवे प्लेटफॉर्म पर अपने किसी संबंधी को छोड़ने या लेने जा रहे हैं तो प्लेटफॉर्म टिकट लेने के समयानुसार 2 घंटे तक प्लेटफार्म पर रुकने की अनुमति मिलती है। इससे अधिक रुकने पर जुर्माना देना पड़ सकता है।

दिग्विजय का बीजेपी पर तंज
पुणे स्टेशन पर प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत बढ़ाए जाने के बाद सोशल मीडिया से लेकर राजनीतिक दलों में भी चर्चा हो रही है। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने इस पर ट्वीट के जरिए बीजेपी पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस राज में रेलवे प्लेटफॉर्म टिकट 3 रुपये का था, भाजपा के राज में 50 रुपये का हो गया।