सुशांत की मौत को पूर्व प्रबंधक ने बताया हत्या, गवाह न बनने के लिए मिली धमकी

0
119

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत की कथित खुदकुशी को दो महीने बीत चुके हैं लेकिन अब तक इस केस में कोई उपलब्धि हासिल नहीं हुई है। हालांकि हर दिन सुशांत केस में रोज नए खुलासे हो रहे हैं। सुशांत के करीबियों से लेकर उनके जान-पहचान वाले ये कह रहे हैं कि वो कभी खुदकुशी नहीं कर सकते। हाल ही में सुशांत के पूर्व प्रबंधक अंकित ने सुशांत की मौत को हत्या करार दिया।

एक निजी चैनल से बातचीत में अंकित ने बताया कि जब वो सुशांत के साथ काम करते तो वो कभी अपने कमरे का दरवाजा बंद करके नहीं सोते थे। सुशांत बहुत सकारात्मक व्यक्तित्व वाले शख्स थे। और उन्हें हमेशा छोटे भाई की तरह प्यार करते थे। वो कभी आत्महत्या नहीं कर सकते।

अंकित ने सवाल उठाया कि घर के स्टॉफ ने सुशांत के कमरे का दरवाजा तोड़ने की बजाय लॉक खोलने वाले को क्यों बुलाया। अंकित ने बताया कि उसके नौकरी छोड़ने के बाद दीपेश नाम के शख्स को रखा गया, जिसका काम सुशांत की देखभाल करना था।

अंकित ने आरोप लगाया कि उनके पास धमकी भरे फोन आ रहे हैं। उनसे कहा जा रहा कि अगर वो सुशांत मामले में गवाह बने तो उन्हें जान से मार दिया जाएगा। अंकित के मुताबिक चार दिन पहले ही उनके पास ऐसा ही फोन आया था।

गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत का शव 14 जून को उनके घर पर मिला था। मुंबई पुलिस इसे सुसाइड बताती आ रही है वहीं लोग इसे हत्या बता रहे हैं। सुशांत के पिता ने इस मामले में रिया चक्रवर्ती सहित छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। इस केस में लगातार सीबीआई से जांच कराने की मांग की जा रही है।