कोटा को मिली एक हजार करोड़ के विकास कार्यों की सौगात

0
87
कोटा में एक हजार करोड़ के विकास कार्यों का जयपुर से शिलान्यास करते मुख्यमंत्री अशोक गहलोत।

कोटा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने सोमवार को मुख्यमंत्री निवास जयपुर से ऑनलाइन कोटा नगर विकास न्यास द्वारा स्मार्ट सिटी के तहत कोटा शहर मे कराये जा रहे 1000 करोड़ रुपये से ज्यादा राशि के 12 विकास कार्यो का शिलान्यास किया। वही अहिसा सर्किल पर 3.4 करोड़ रुपये की लागत से बने वरिष्ठ नगर नियोजक भवन लोकार्पण किया।

कोटा में नगर विकास न्यास के ऑडिटोरियम में कार्यक्रम रखा गया। जिसमें स्थानीय अधिकारियों ने भाग लिया। इसमें देवनारायण पशुपालक योजना की पुस्तिका का भी विमोचन किया। यह अपनी तरीके की पहली योजना है। इस योजना पर 300 करोड़ रुपये खर्च होंगे। 307 करोड़ रुपये की लागत से विकसित किए जाने वाले चंबल रिवरफ्रंट कार्य का शिलान्यास भी हुआ। अंटाघर सर्किल पर अंडरपास और सौंदर्यीकरण के कार्य पर 25 करोड़ रुपये खर्च होंगे। एक साल में पूरे होने वाले इस कार्य का अर्थवर्क शुरू हो गया है।

एरोड्राम सर्किल पर 50 करोड़ रुपये की लागत से दो अंडरपास बन रहे हैं। यह कार्य 18 माह में पूरा होगा। झालावाड़ रोड पर सिटी मॉल के सामने 55 करोड़ रुपये की लागत से डेढ़ साल में एलिवेटेड रोड का निर्माण होगा। इसका भी शिलान्यास किया गया। गोबरिया बावड़ी सर्किल पर अंडरपास का निर्माण 25 करोड़ रुपये की लागत से एक साल में पूरा किया जाएगा। अनंतपुरा तिराहे पर 70 करोड़ रुपये की लागत से 18 माह में फ्लाईओवर का निर्माण किया जाएगा। इसका कार्य भी चल रहा है।

इंदिरा गांधी तिराहे पर 70 करोड़ रुपये की लागत से 18 माह में फ्लाईओवर का निर्माण किया जाएगा। इसका कार्य भी चल रहा है। मल्टीपरपज स्कूल में 21 करोड़ रुपये और जयपुर गोल्डन ट्रांसपोर्ट कपंनी के पास 25 करोड़ रुपये की लागत से बने रहे पार्किंग स्थल का भी शिलान्यास हुआ। जेके पेवेलियन में खेल संकुल निर्माण 25 करोड़ रुपये की लागत से 15 माह में पूरा होगा। इसके अलावा 3.4 करोड़ रुपये की लागत से बने वरिष्ठ नगर नियोजक कार्यालय भवन का लोकार्पण भी किया गया।