क्या राजस्थान हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश कोरोना पॉजिटिव हैं, जांच पर सवाल

0
38

जयपुर। राजस्थान हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत महांती की कोरोना रिपोर्ट शनिवार को पॉजिटिव आई थी। इसके बाद रविवार को तीन जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई हैं। पहले पॉजिटिव और फिर नेगेटिव जांच रिपोर्ट आने के बाद जांच प्रक्रिया भी एक बार फिर से सवाल खड़े हो गए हैं।

मुख्य न्यायाधीश शनिवार को हाईकोर्ट परिसर और सैशन कोर्ट परिसर में आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह में मुख्य न्यायाधीश शामिल हुए थे। इसी वजह से कार्यक्रम में आने वाले अधिकारियों एवं वकीलों के लिए रविवार को हाईकोर्ट परिसर में शिविर लगाकर कोरोना सैंपल लिए गए। रजिस्ट्रार जनरल ने एक आदेश जारी कर 19 अगस्त तक हाईकोर्ट में कार्य स्थगित कर दिया है ताकि सैंपल लेने के साथ उनकी जांच हो सके। वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुख्य न्यायाधीश की रिपोर्ट पॉजिटिव होने की जानकारी मिलने के बाद ट्विट किया जिसमें मुख्य न्यायाधीश के जल्द स्वस्थ्य होने की कामना की।

मुख्य न्यायाधीश कार्यालय में कार्यरत एक कर्मचारी के साथ ही उच्च न्यायालय के पांच कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटीव पाये जाने के बाद शुक्रवार को मुख्य न्यायाधीश के साथ ही अन्य सभी के कोरोना सैंपल लिए थे। चिकित्सा विभाग की ओर से शनिवार शाम को जारी हुई रिपोर्ट में मुख्य न्यायाधीश के साथ उनके दो कार्यालयकर्मी के पॉजिटिव होने की जानकारी दी गयी। रिपोर्ट आने से पहले मुख्य न्यायाधीश स्वतंत्रता दिवस समारोह में शामिल हुए। जिसमें बड़ी संख्या में वकील और न्यायिक अधिकारी शामिल हुए।

जांच की प्रमाणिकता पर उठे सवाल
मुख्य न्यायाधीश में कोरोना संक्रमण को लेकर किसी तरह के कोई लक्षण सामने नहीं आए। शुक्रवार को लिए गए नमून की जांच आरयूएचएस में हुई थी जहां पर कोरोना पॉजिटिव बताया गया। रिपोर्ट आने के बाद लिए गए तीन नमूनों में जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई। इस वजह से अब एक बार फिर से जांच पर सवाल उठने लगे हैं वैसे मेडिकल आरटीपीसीआर जांच में सही होने की संभावना 70 प्रतिशत ही मानी जाती है।

तीन दिन कार्य स्थगित
हाईकोर्ट में अब तीन दिन तक कार्य स्थगित किया गया है। अब 20 अगस्त से हाईकोर्ट में नियमित सुनवाई शुरू होगी। तीन दिन तक कोरोना सैंपल लेने के साथ ही सैने टाइज करने का काम चलेगा।

कैंप लगाकर लिए सैंपल
मुख्य न्यायाधीश की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद रविवार को उच्च न्यायालय में मेडिकल कैंप लगाया गया। इस कैंप में कोरोना जांच के सैंपल लिए गए। ऐसे सभी लोग जो हाईकोर्ट और सेशन कोर्ट परिसर में आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह में शामिल हुए उन सभी को कोरोना जांच के लिए हाईकोर्ट परिसर में आने की अपील भी की गई।