सुशांत को मारने के लिए स्टन गन का इस्तेमाल, डॉक्टर का दावा

0
369

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत केस में रोज लगातार नए ट्विस्ट सामने आ रहे हैं। अब एक नया हैरान करने वाला दावा सामने आया है, जिसमें कहा जा रहा है कि सुशांत की हत्या स्टन गन से की गई है। इसे लेकर सुशांत के एक फॉलोअर ने ट्वीट किया, जिसमें उसने कहा कि स्टन गन के निशान ऐसा ही होते हैं, जैसा मौत के बाद सुशांत के गले पर नजर आया था।सुब्रमण्यम स्वामी ने भी इस थ्योरी को सपॉर्ट किया है।

बता दें कि इस स्टनगन थ्योरी के बारे में खुद को अमेरिका के इंटरनल मेडिसिन डॉक्टर राजू बाधवा बताने वाले शख्स ने पोस्ट की थी। उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा था कि सुशांत के मामले में स्टन गन का इस्तेमाल किया गया है, जिससे उनकी गर्दन पर बाईं ओर जलने के निशान थे। उन्होंने यह भी लिखा है कि यदि आपने गौर किया होगा तो देखा होगा कि उनका आधा चेहरा पैरालाइज्ड दिख रहा था, जिसे बेल्स पाल्सी कहते हैं जो कि हाई वोल्टेज की वजह से होता है।

उन्होंने कहा कि इसी वजह से उनके चेहरे का बायां हिस्सा पैरालाइज्ड था और बाईं आंख खुली थी। उन्होंने अपने अनुभवों के आधार पर लिखा है कि चेहरे की नसें (7th cranial nerve) और शॉक की वजह से सुशांत की एक आंख बंद नहीं हो पाई थीं।

उन्होंने यह भी लिखा कि अमेरिका के एक नेवी सील अफसर को मारने के लिए इसी तरह से स्टन गन का इस्तेमाल किया गया था और यह दिखाने की कोशिश की गई थी कि उसने आत्महत्या की है, लेकिन फॉरेंसिक जांच करने वालों ने हत्यारों को पकड़ लिया।

इसके बाद एक यूजर ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘आज मैंने स्टन गन के बारे में पढ़ा और यह भी जाना कि इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है। देखा कि यह किस तरह के निशान शरीर पर छोड़ता है और ये एकदम वैसे ही निशान हैं। उन लोगों ने पैरालाइज्ड करने के लिए स्टन गन का ही इस्तेमाल किया।’

सुब्रमण्यम स्वामी ने अपने इस ट्वीट में लिखा है, ‘क्या यह गन अरब सागर की सीमा से लगे हुए किसी देश से भेजी गई थी? एनआईए को इसकी जांच करनी चाहिए।’