गूगल असिस्टेंट करता था आपकी आवाज रिकॉर्ड, अब बिना पूछे नहीं करेगा सेव

0
272

नई दिल्ली। गूगल असिस्टेंट को आप जो भी वॉइस कमांड अब तक बोलकर देते रहे हैं, सारी रिकॉर्डिंग्स कंपनी एक जगह स्टोर कर लेती है। कई यूजर्स को इस बात की जानकारी नहीं है कि उनकी ओर से बोला गया ऑडियो गूगल सिस्टम में रिकॉर्ड करता है। हालांकि, गूगल ने अपनी डिफॉल्ट सेटिंग में बदलाव किया है और हर यूजर से पूछा जाएगा कि वह अपनी आवाज की रिकॉर्डिंग्स गूगल के सिस्टम में स्टोर करना चाहता है या नहीं।

लेटेस्ट रिपोर्ट XDA डिवेलपर्स की ओर से सामने आई है और कहा गया है कि गूगल एक प्रोग्राम पर काम कर रहा है, जो ऑडियो स्निपेट्स की रेटिंग के लिए इंसानों का इस्तेमाल करेगा। यानी कि कर्मचारी खुद ऑडियो रिकॉर्डिंग्स को रेटिंग देंगे। रिपोर्ट में कहा गया है कि जो यूजर्स अब गूगल के पास रिकॉर्डिंग्स स्टोर करना चाहते हैं, उन्हें इस प्रोग्राम का हिस्सा बनना पड़ेगा और इसमें इनरोल करना होगा।

पिछले साल हुआ था विवाद
यूजर्स को वॉइंस एंड ऑडियो ऐक्टिविटी (VAA) सेटिंग्स इनेबल करनी होंगी, जिसके बाद उनके ऑडियो गूगल के पास सेव होंगे। दरअसल, पिछले साल सामने आया था कि गूगल और बाकी टेक कंपनियां यूजर्स के ऑडियो रिकॉर्ड, स्टोर और रिव्यू करती हैं। इसपर हुए विवाद के बाद से कंपनियां यूजर्स की ऑडियो रिकॉर्डिंग्स स्टोर करने के मामले में ज्यादा ट्रांसपैरेंट हुई हैं और खुद यूजर सेटिंग्स में बदलाव कर इसे बदल सकता है।

बेहतर रिस्पॉन्स के लिए रिव्यू
The Verge की रिपोर्ट में कहा गया है कि गूगल अपने Google Assistant, स्मार्ट स्पीकर्स और बाकी ऐप्लिकेशंस से इंटरैक्ट करने वाले यूजर्स को ईमेल भेज रहा है। कंपनी की ओर से कहा गया है कि रिकॉर्डिंग्स का एनालिसिस कर असिस्टेंट की ओर से मिलने वाले रिस्पॉन्स को बेहतर बनाया जाएगा। गूगल बिना यूजर्स की पहचान शेयर किए इन रिकॉर्डिंग्स को रिव्यू करता है और अब यूजर्स की सहमति मिलने के बाद ही रिकॉर्डिंग्स स्टोर करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here