RBI का नया नियम, स्वर्णाभूषणों पर अब 90 फीसदी तक मिलेगा लोन

0
640

मुंबई। भारत में सोने की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। कोरोना संकट के दौर में ग्राहकों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए आज भारतीय रिजर्व बैंक ने गोल्ड लोन लेने वालों को बड़ी सौगात दी है। केंद्रीय बैंक ने गोल्ड लोन को और भी आकर्षक बनाया है।

गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि आरबीआई का रुख उदार बना रहेगा। बैंक गोल्ड ज्वैलरी पर 90 फीसदी तक लोन दे सकेंगे। मौजूदा समय में सोने के कुल मूल्यू का 75 फीसदी तक ही लोन मिलता है। यह सुविधा 31 मार्च 2021 तक दी गई है।

मालूम हो कि कोरोना वायरस महामारी के समय में लोगों ने गोल्ड लोन का काफी इस्तेमाल किया है। इसके मद्देनजर आरबीआई ने यह फैसला किया। गोल्ड लोन में गोल्ड ज्वैलरी को बतौर जमानत रखवाकर कर्ज दिया जाता है। इतना ही नहीं, गोल्ड की बढ़ती कीमतों की वजह से लोग अधिक राशि के लोन के लिए आवेदन कर सकेंगे।

गोल्ड लोन कर्जदाताओं की आमदनी और कमाई बढ़ाने के लिए सबसे अच्छे विकल्पों में से एक है। इसके साथ ही कर्ज लेने वालों के लिए भी यह लाभदायक होता है क्योंकि पर्सनल लोन की तुलना में गोल्ड लोन की ब्याज दर कम होती है।

अभी पर्सनल लोन आपके जॉब प्रोफाइल और क्रेडिट स्कोर के आधार पर 10 से 15 फीसदी के बीच ब्याज दरों पर उपलब्ध है। लेकिन गोल्ड लोन की बात करें, तो यह 8 से 12 फीसदी के बीच ब्याज दर पर मिल जाता है। अलग-अलग बैंकों की ब्याज दर भी अलग होती है। इसलिए अगर आप भी गोल्ड लोन लेने का सोच रहे हैं, तो आपको पहले ही ब्याज के बारे में ठीक से पता कर लेना चाहिए।

इसकी एक और खास बात ये है कि गोल्ड लोन का लाभ उठाने के लिए आपको अच्छी क्रेडिट हिस्ट्री रखने की जरूरत नहीं है। लेकिन अगर आपकी क्रेडिट हिस्ट्री अच्छी है, तो आपको सस्ती दरों पर लोन मिल सकता है। इतना ही नहीं, गोल्ड लोन में आपको आसान रीपेमेंट विकल्प भी मिलते हैं। इसमें आंशिक रीपेमेंट भी उपलब्ध है।