राजस्थान में फिर लॉकडाउन की संभावनाओं को खारिज किया गहलोत ने

0
134

जयपुर। राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने फिर लॉकडाउन की संभावना को खारिज करते हुए शनिवार को कहा कि वह इसे उचित नहीं समझते। इसके साथ ही गहलोत ने लोगों को आगाह किया कि वे सभी नियम प्रोटोकॉल का पालन करें। गहलोत ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में पूर्ण लॉकडाउन की योजना संबंधी सवाल पर कहा,‘‘ फिर से तो लॉकडाउन लगाना उचित नहीं समझता मैं।

परंतु मैं जनता को आगाह करना जरूर चाहूंगा कि महामारी तो महामारी है, यह खतरनाक महामारी है। सरकार की तरफ से सलाह दी गयी है कि किस प्रकार मास्क लगाना है, किस प्रकार सोशल डिस्टेंसिंग करनी है … जनता को इसमें खुद के लिए एवं सभी के लिए सहयोग करना चाहिए।’’ राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों पर गहलोत ने कहा कि डरने की जरूरत नहीं है क्योंकि सरकार जांच ज्यादा कर रही है इसलिए संख्या भी बढ़ी है।

उन्होंने कहा, ‘‘ कोई डरने की जरूरत इसलिए नहीं है, मृत्युदर पहले हमारे यहां दो प्रतिशत के आसपास थी, अब नीचे आ गई है। हमने पूरा जोर लगा रखा है कि हम पूरा ध्यान रखें एक-एक मरीज का, इलाज अच्छा हो रहा है राजस्थान में।’’ गहलोत ने कहा,‘‘ संक्रमितों की संख्या इसलिए बढ़ रही है क्योंकि संख्या हमने बढ़ाई है ढूंढकर के। मतलब जितने ज्यादा परीक्षण करेंगे, उतनी ज्यादा संख्या बढ़ेगी, पूरे विश्व में यही हुआ है। जिन राज्यों ने ज्यादा जांच की उन राज्यों में ज्यादा स्थिति अच्छी नियंत्रण में रही।’’

उन्होंने कहा कि राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण जांच की क्षमता अब 40 हजार जांच प्रतिदिन से अधिक है और यह जल्द ही 50 हजार तक हो जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर आग्रह करेंगे कि वह कोरोना वायरस संक्रमण के हालात पर सभी मुख्यमंत्रियों के साथ एक बार वीडियो कॉन्फ्रेंस करें। उल्लेखनीय है कि राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमितों की अब तक की कुल संख्या 42000 से ज्यादा हो गयी है जिनमें से 11,979 रोगी उपचाराधीन हैं।